Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरुः किराये पर टीडीएस के नियम, क्या करें टैक्सपेयर

प्रकाशित Wed, 28, 2017 पर 18:01  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स गुरु में आज हम लेकर आए है टैक्स से जुड़े आपके हर सवाल का जवाब। फिर चाहे वो टैक्स में हुए बदलाव की जानकारी हो या फिर टैक्स रिटर्न फाइल करने में आने वाली छोटी-छोटी दिक्कते, इन सभी उलझनों को सुलझाएंगे टैक्स गुरु अमिताभ सिंह। लेकिन सबसे पहले बात करेंगे 1 जून 2017 के बाद देश भर में नियम लागू हो चुका है कि यदि कोई किरायेदार महीने में 50 हजार रुपये या इससे अधिक किराया देता है तो उसे इस बार टीडीएस कटौती करनी ही होगी।


टैक्स एक्सपर्ट अमिताभ सिंह का कहना है कि 1 जून 2017 से सेक्शन 194-आईबी लागू किया गया है जिसके तहत इंडिविडुअल और एचयूएफ पर टीडीएस के नए नियम लागू होगें। इस नियम के तहत 50 हजार से ज्यादा किराया देनेवालों को 5 फीसदी टीडीएस काटाना होगा। ध्यान रहें यह टीडीएस कटौती वाले महीने के 30 दिनों के भीतर फॉर्म 26QC के साथ जमा कराएं और 15 दिनों के भीतर ही टीडीएस सर्टिफिकेट डाउनलोड करें।


टीडीएस सर्टिफिकेट यानि फॉर्म 16सी मकान मालिक को सौंपना होगा। हालांकि गर महीने टीडीएस काटने की जरुरत नहीं। साल में एक बार टीडीएस काटना पर्याप्त है। ध्यान रहें कि टीडीएस काटने के बाद उसे जमा नहीं कराने पर सख्त सजा का प्रावधान है और अगर टीडीएस काटने के बाद जमा कराने में देरी होती है तो देरी पर 1.5 फीसदी ब्याज प्रति महीने का जुर्माना देना होगा। टीसीएस सर्टिफिकेट यानि फॉर्म 16सी देने में देरी करने पर हर दिन 100 रुपये का जुर्माना देना होगा।


सवालः वित्त वर्ष 2016-2017 में कुछ शेयर बेचें जो पिताजी ने काफी पहले खरीदें थे, ये शेयर मेरे एकाउंट में फरवरी 2015 में ट्रांसफर किए थे। लेकिन शेयरों की खरीद कीमत पता नहीं, अब कैपिटल गेन की गणना कैसे करें?


अमिताभ सिंहः 1 अप्रैल 1981 के पहले शेयर खरीदें हो तो 1 अप्रैल 1981 की कीमत मानी जाएगी। अगर 1 अप्रैल 1981 के बाद शेयर खरीदे हों तो उसके फेयर मार्केट वैल्यू को खरीद कीमत मानें। शेयरों पर हुए लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन पर टैक्स देने की जरुरत नहीं है।


सवालः फ्लैट का पजेशन दिसंबर 2017 तक मिलेगा, क्या तब तक एचआरए क्लेम किया जा सकता है? इसके साथ क्या होम लोन के ब्य़ाज और मूलधन पर भी टैक्स छूट मिलेगी?


अमिताभ सिंहः फ्लैट का पजेशन नहीं मिलने तक एचआरए का फायदा ले सकते है। अगर किराये के घर में रहते हो तो एचआरए का फायदा मिलेगा। सेक्शन 24 के तहत होम लोन के ब्याज पर 2 लाख तक की छूट मिलेगी और सेक्शन 80सी के तहत प्रिंसिपल रिपेमेंट पर 1.5 लाख तक की छूट मिलेगी।


सवालः बेटी की उम्र 18 साल है और उसके बैंक एकाउंमट में 50 लाख रुपये गिफ्ट के तौर पर ट्रांसफर करना है, क्या इसका इस्तेमाल एफडी कारने में हो सकता है, इससे आईटी के किसी का नियम का उल्लंघन तो नहीं होगा?


अमिताभ सिंहः बेटी को गिफ्ट में 50 लाख रुपये दे सकते हैं। बालिग बेटी को गिफ्ट देने में कोई दिक्कत नहीं है। गिफ्ट की रकम पर ब्याज आपकी बेटी के लिए टैक्सबेल होगा। लेकिन गिफ्ट डीड जरुर बना लें।