Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरुः नोट जमा करा रहे हैं, क्या रखें ध्यान

प्रकाशित Fri, 18, 2016 पर 16:49  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

500 और 1000 रुपये के नोट पर प्रतिबंध लगने के बाद लोगों को अब चिंता टैक्स बचाने से ज्यादा पैसे को अकाउंट में जमा करने की है। ऐसे में यह जानना बेहद जरुरी है कि आप जो पैसा जमा करने जाएं तो किन नियमों का ध्यान रखे ताकि इनकम विभाग की तेढ़ी नजर मा पड़े। यहीं होगा आज टैक्स गुरु का फोकस आज हमारे साथ है टैक्स एक्सपर्ट अमिताभ सिंह। 


टैक्स एक्सपर्ट अमिताभ सिंह का कहना है कि सरकार की नजर उन खामियों पर है जिनका लोग फायदा उठा सकते है। बड़ी रकम जमा करने वालों या उसे ठिकाने लगाने वालों पर सरकार की नजर हैं। अमिताभ सिंह के मुताबिक चार्टर्ड एकाउंटेंट्स के पास काले धन को वैध करने का कोई रास्ता नहीं है। जो सीए काले धन को वैध करने के तरीके बताएंगे, वो खुद भी फंस सकते है। आपको बताना पड़ सकता है कि एकाउंट में जमा पैसा कहां से आया है। बड़ी रकम जमा खाते में जमा होने पर टैक्स विभाग स्क्रूटनी कर सकता है।


अमिताभ सिंह के मुताबिक एकाउंट की अगर केवायसी ना हुई हो तो अधिकतम 50,000 रुपये ही जमा कर सकते है। अगर आय का स्त्रोत बता सकते है तो जिनती चाहें उतनी राशि जमा कराएं। जो आय का स्त्रोत नहीं बता पाएंगे, उन्हें डरने की जरुरत है। छिपी आय पर 30 फीसदी टैक्स के अलावा पेनल्टी भी लगेगी। जिसपर पेनल्टी 50 से 200 फीसदी तक हो सकती है।


टैक्स एक्सपर्ट अमिताभ सिंह का कहना है कि आप अलग- अलग एकाउंट में ढ़ाई-ढाई लाख रुपये डालकर बत नहीं सकते है। सरकार ने 2.5 लाख रुपये की निजी सीमा तय की है, जिसके बाद पूछताछ होगी। टैक्स विभाग की जांच के दाय़रे में आने पर जवाब देना होगा। 2 लाख रुपये से ज्यादा डिपॉजिट करने से पहले बैंक से बात कर लें और पैसे के स्त्रोत की जानकारी अपने पास लिखित रुप में रखें।पैसे के स्त्रोत की जानकारी के दस्तावेज अपने पास रखें।