Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरुः टैक्सपेयर्स के नजरिये से कैसा रहा साल 2016!

प्रकाशित Wed, 28, 2016 पर 18:50  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

साल 2016 देश के इतिहास में एक ऐसे वर्ष के रुप में याद किया जाएंगा। जिससे टैक्स सुधारों को एक नई दिशा दी। फिर वो चाहे इनकम टैक्स से जुड़े रिफार्म हो या चाहे इडेरेक्ट टैक्स को सुधारने की पहल। इस साल हमने जीएसटी बिल को संसद में पास होते हुए देखा। वहीं इमानदार टैक्स पेयर्स को इनकम टैक्स विभाग की तरफ से सर्टिफिकेट मिलते देखा। हम डिजिटल होते देश में टैक्स रिटर्न की लोकप्रियता बढ़ने के गवांह बने। इतना ही नहीं साथ ही हमने नोटबंदी का फैसला होते देखा है जिसके दुरगामी प्रभाव हमें आनेवाले महीनों में देखने को मिलेगें। आज टैक्स गुरु चर्चा करेंगा कि एक टैक्स पेयर्स के नजरिए से कैसा रहा साल 2016 और नए साल से हमें क्या उम्मीदें रखनी चाहिए। तो जानेगें कि 2016 में क्या खोया और क्या पाया हमने टैक्स एक्सपर्ट मुकेश पटेल से।


टैक्स एक्सपर्ट मुकेश पटेल का कहना है कि टैक्स के नजरिये से ऐतिहासिक साल रहा है 2016 और आम टैक्सपेयर की अपेक्षाएं पूरी हुई है। आम टैक्सपेयर की अपेक्षाएं होती है कि रिटर्न, रिफंड, स्क्रूटनी, अपील की प्रक्रियाएं आसान हो जो हुई है। ई-रिटर्न आसान होने से टैक्सपेयर्स को फायदा हुआ है। इतना ही नहीं रिफंड की प्रक्रिय़ा में तेजी आई, 15 दिनों में भी रिफंड आया है। मुकेश पटेल के मुताबिक पारदर्शियता और जवाबदेही साल की दो सबसे बड़ी बातें रही है।


वहीं साल 2016 में सरकार ने टैक्सपेयर के लिए कुछ कमी भी रखी है। टैक्स एक्सपर्ट मुकेश पटेल के अनुसार टैक्स सुधार से जुडी ईश्वर कमिटी की कई सिफारिशें सरकार ने मानी। ईश्वर कमिटी की रिपोर्ट में टीडीएस पर एक अहम सिफारिश भी थी, जो सरकार ने नहीं मानी। टीडीएस के दरों को तर्कसंगत बनाने की जरुरत है। 2016 के बजट में वित्त मंत्री टीडीएस में बदलाव नहीं ला पाएं। टीडीएस काटने वाले की गलती का खामियाजा  टैक्सपेयर को भुगतना पड़ता है। हालांकि टीडीएस के विषय पर बल देते हुए मुकेश पटेल ने कहा कि सरकार को टीडीएस के नियमों में सुधार पर ध्यान देने की जरुरत है।


वहीं हाउसिंग के नियमों को आसान बनाने के लिए सरकार ने अच्छी पहल की। एक्सपर्ट मुकेश पटेल के अनुसार आमतौर पर सेक्शन 24 में होमलोन के ब्याज पर 2 लाख रुपये तक की छूट दी गई है। 2016 में पहली बार घर लेने वालों को तोहफा मिला है। 50 लाख तक का घर, 35 लाख तक का होम लोन लेनेवालों को बेनेफिट मिल रहा है। इतना ही नहीं पहली बार घर लेने वालों को शर्ते पूरी करने पर 50000 की अतिरिक्त टैक्स छूट भ  सरकार की और से दी जा रही है। हालांकि 31 मार्च 2017 तक मंजूर होनेवाले होमलोन पर ही स्कीम का फायदा मिल सकता है।