Moneycontrol » समाचार » टैक्स

1 अप्रैल से बदलेंगे टैक्स के नियम, किन बातों का रखें ख्याल

प्रकाशित Wed, 21, 2018 पर 18:58  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स एक ऐसा शब्द है जिसे सुनते ही आम आदमी ही नहीं जानकार भी घबराने लगते हैं। कारण है कि आयकर कानूनों में इतने सारे पेंच है कि किसी के लिए भी इन्हें समझना टेढ़ी खीर साबित हो सकती है। इनकम टैक्स भरने का समय करीब आ रहा है जरुरी है कि आप इनसे जुड़े नियमों में बदलाव को जाने और समझें। ऐसे ही मौकों पर टैक्स गुरू अपनी जानकारी और अनुभव का खजाना लेकर आते हैं और करते हैं टैक्स से जुड़ी मुश्किलों को दूर। आज आपके टैक्स से जुड़े मुश्किल सवालों का जवाब देंगे टैक्स एक्सपर्ट शरद कोहली की सलाह।


1 अप्रैल से नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत होगी और इस नए साल में कई बदलाव है ऐसे में टैक्सपेयर्स को किन बातों का ख्याल रखना है इसपर बात करते हुए शरद कोहली का कहना है कि नए नियम के तहत स्टैंडर्ड डिडक्शन 40,000 रुपये का मिलेगा। मेडिकल और ट्रांसपोर्ट अलाउंस खत्म हो जाएगा। 1 अप्रैल से पीपीएफ खाता जब्त नहीं होगा और 54ई में भी बदलाव किया जायेगा। बॉन्ड 5 साल से पहले बेचने पर फायदा नहीं मिलेगा। अनलिस्टेड शेयर 1 अप्रैल के बाद बेचने पर इंडेक्सेशन का फायदा मिलेगा। सीनियर सिटीजन को फायदा मिलेगा। 50000 रुपये तक टीडीएस नहीं लगेगा। 80टीटीबी के तहत 50000 रुपये तक का फायदा मिलेगा।


सवालः पत्नी सीनियर सिटीजन है, अपनी बचत और हरिकिशन जी से ब्याज पर कर्ज लेकर शेयर मार्केट में निवेश किया है। इस वित्त वर्ष में 2.78 लाख रुपये शॉर्ट टर्म लॉस और 2.65 लाख रुपये का शॉर्ट टर्म गेन हुआ है, साथ ही एफडी पर 35000 रुपये की ब्याज आय हुई। कोई टैक्स लायबिलिटी नहीं है क्या पत्नी को 2017-2018 के लिए रिटर्न भरना चाहिए?


शरद कोहलीः 13000 रुपये का शॉर्ट टर्म लॉस हुआ है। सेटऑफ रिटर्न नहीं भरने पर घाटे को अगले सालों में नहीं कर पाएंगे। लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन में शॉर्ट टर्म लॉस सेट ऑफ कर सकते हैं। रिटर्न फाइल नहीं करने पर एफडी पर कटे टीडीएस का नुकसान होगा। फॉर्म 2 के जरिये रिटर्न भरें।


सवालः फार्मा कंपनी मं काम करते हैं और 6.5 लाख रुपये सैलरी मिलती है, कितना निवेश करें ताकि टैक्स ना कटें?


शरद कोहलीः 80सी के तहत 1.5 लाख रुपये का निवेश करें। 50000 रुपये का निवेश एनपीएस में करिए। 80डी के तहत मेडिकल इंश्योरेंस लीजिए।