Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरु: डोनेशन की रकम पर कैसे बचाएं टैक्स

जानिए टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया से टैक्स बचत के आसान तरीके
अपडेटेड May 16, 2014 पर 16:49  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जानिए टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया से टैक्स बचत के आसान तरीके जो टैक्स से जुड़े मुश्किल से मुश्किल सवालों को आसान कर आपको करते हैं टेंशन फ्री।   


सवाल :  अगर किसी राजनीतिक पार्टी को डोनेशन दिया है तो क्या टैक्स बच सकता है?


सुभाष लखोटिया : राजनीतिक पार्टी को दिए गए योगदान पर इंडिविज्युअल या कंपनी दोनों को टैक्स छूट मिल सकती है। अगर आपकी कंपनी किसी भी मान्यता प्राप्त राजनीतिक पार्टी को या इलेक्ट्रॉल ट्रस्ट को डोनेशन देती है तो इस पर आयकर की धारा 80जीजीबी के तहत टैक्स छूट मिल सकती है। डोनेशन पर टैक्स छूट के लिए कोई अधिकतम सीमा नहीं है। लेकिन अगर इंडिविज्युअल या बिजनेस पार्टनर्स राजनीतिक पार्टियों को डोनेशन देते है तो उसे सेक्शन 80जीजीसी के तहत छूट मिलेगी।


वित्त वर्ष 2013-14 से कैश में डोनेशन देने पर छूट का फायदा नहीं मिलेगा। यदि 10,000 रुपये तक कैश पेमेंट करेंगे तब भी डोनेशन पर 80जी के तहत छूट मिलेगी। लेकिन अगर इससे ज्यादा कैश पेमेंट करेंगे तो डोनेशन पर टैक्स छूट का फायदा नहीं मिलेगा। भले पत्नी डोनेशन की रकम पति के खाते से देती है तब भी पति को छूट का फायदा नहीं मिलेगी बल्कि पत्नी को ही डोनेशन देने के चलते टैक्स छूट का फायदा मिलेगा। 


सवाल : वित्त वर्ष 2013-14 में 24000 रुपये का डोनेशन दिया। फॉर्म 16 में ब्यौरा नहीं। अब क्या करें?   


सुभाष लखोटिया : कंपनी ने डोनेशन पर टैक्स छूट का फायदा नहीं दिया, तो आप रिटर्न भरें और टैक्स का फायदा लें। इस तरह आपको डोनेशन की रकम पर 50 फीसदी टैक्स छूट मिलेगी। डोनेशन की रसीद साथ में लगाने की जरूरत नहीं होगी। असेसिंग अधिकारी अगर मांगता है तो आपको रसीद दिखाना होगा।    


सवाल : इनकम टैक्स में क्या ऐसा कोई प्रावधान है जिसके तहत कोई भी व्यक्ति घर किराए पर छूट ले सकता है? 


सुभाष लखोटिया : सेक्शन 80 जीजी के तहत किराए पर छूट मिलती है। करदाता कुल इनकम में से किराए की रकम घटा सकते हैं। हालांकि छूट के लिए कुछ खास नियम बनाए गए हैं। छूट लेने से पहले किराया, कुल इनकम का 10 फीसदी ज्यादा होना चाहिए और किराए का भुगतान व्यक्ति ने अपने रहने के लिए ही किया होना चाहिए। करदाता फॉर्म 10बीए में पूरी जानकारी देना और जमा करना जरूरी है। सेक्शन 80जीजी की छूट के लिए व्यक्ति, पत्नी, बच्चे या एचयूएफ के पास घर नहीं होना चाहिए।


सवाल : मां की फैमिली पेंशन से इनकम है। किराए के घर में रहती है। क्या सेक्शन 80जीजी की छूट मिलेगी? 


सुभाष लखोटिया : मां को फैमिली पेंशन मिलती है, तो इस फैमिली पेंशन पर सेक्शन 80जीजी के तहत 15,000 रुपये तक की छूट मिलेगी। 80जीजी के तहत पेंशन का 25 फीसदी या अधिकतम हर महीने 2000 रुपये की छूट मिलेगी।


सवाल : टैक्स डिमांड के वेरिफिकेशन और करेक्शन को लेकर सीबीडीटी ने किस तरफ के नए एसओपी लेकर आई है?    


सुभाष लखोटिया : सीबीडीटी ने सभी असेसिंग अधिकारियों को एसओपी जारी किया है। टैक्स कटा हुआ और फायदा नहीं मिला तो एसओपी के तहत समस्या दूर होगी। करदाता सबूत देकर बकाया टैक्स कम या खत्म करवा सकते हैं। एसओपी में करदाताओं की गलती के बारे में भी जानकारी दी जाती है। रिफंड लेने के समय करदाता कई तरफ की नई गलती कर देते हैं। टैन नंबर की गलती, गलत टीडीएस शेड्य़ूल में जानकारी, चालान की पूरी जानकारी नहीं देने जैसी गलतियों को सुधारने के लिए करदाता अप्लाई कर सकते हैं। इन सुधारों के लिए असेसिंग अधिकारी या सीपीसी बंगलुरो को पत्र लिख सकते हैं। 


सवाल : बैंकों को कुछ तिमाही का टीडीएस देर से भरने पर जुर्माने का नोटिस मिला। क्या अपील करें?


सुभाष लखोटिया : टीडीएस में देरी पर लगने वाला जुर्माना प्रति दिन के हिसाब से लगता है।  जुर्माने की रकम माफ करने के लिए अपील कर सकते हैं। आप अपील जरूर करें क्योंकि आपने टैक्स भर दिया है। 


सवाल : पीएफ खाता ट्रांसफर करवाया, लेकिन ऑनलाइन कोई ब्यौरा नहीं मिल रहा। क्या करें?   

सुभाष लखोटिया : पीएफ की रकम नई कंपनी के अकाउंट में ट्रांसफर हो गई है। पीएफ खाते के नंबर के साथ पत्र लिखकर आप सारी जानकारी पा सकते हैं। 


वीडियो देखें