Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

कैसी हो आंत्रप्रेन्योर की फाइनेंशियल प्लानिंग

प्रकाशित Wed, 10, 2014 पर 15:46  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अगर आप अपना खुद का स्टार्ट अप शुरू करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको कुछ तैयारियां करनी होती हैं। ऑप्टिमा मनी मैनेजर्स के डायरेक्ट पंकज मठपाल बता रहें हैं कि आंत्रप्रेन्योर की फाइनेंशियल प्लानिंग किस तरह से की जानी चाहिए।


पंकज मठपाल के मुताबिक किसी आंत्रप्रेन्योर को अपनी बिजनेस प्लानिंग को पर्सनल फाइनेंसियल प्लानिंग से अलग रखने की जरूरत होती है। अपने खुद के निवेश और इंश्योरेंस के लिए अलग से पैसा रखें। अच्छे बिजनेस प्लान के अभाव में लोग निवेश से पैसे निकाल लेते हैं, जो अच्छा नहीं होता।


पंकज मठपाल के मुताबिक किसी आंत्रप्रेन्योर के लिए इमरजेंसी के लिए फंड की व्यवस्था रखना बहुत जरूरी होता है। पंकज मठपाल ने कहा कि अपने महीने के खर्च के साथ ही सालाना खर्च का भी हिसाब रखें।


पंकज मठपाल के मुताबिक आंत्रप्रेन्योर को इस तरह से निवेश करना चाहिए जिससे उसको नियमित आय मिलती रहे। यह आय डिपॉजिट से मिलने वाले ब्याज या डिविडेंड के रुप में हो सकती है। आंत्रप्रेन्योर को ऐसे एसेट में निवेश करनी चाहिए जो लिक्विड हो और जिससे जरूरत पड़ने पर तुरंत पैसे मिल सकें। कोशिश करें कि आपके ऊपर कर्ज का बोझ कम या बिल्कुल न हो। और ईएमआई को अपने ऊपर बोझ न बनने दें। पंकज मठपाल ने कहा कि आंत्रप्रेन्योर को फंड पाने के लिए आरटीजीएस/एनईएफटी का उपयोग करना चाहिए।


वीडियो देखें