Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स से परेशान, टैक्स गुरू दें समाधान

प्रकाशित Sat, 18, 2015 पर 15:35  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स का नाम सुनते ही हम परेशान हो जाते हैं और तलाश करते हैं किसी ऐसे जानकार की जो हमारी टैक्स से जुड़ी समस्याएं सुलझा सके। सीएनबीसी आवाज़ पर टैक्स गुरू लेकर आए हैं ऐसी ही टैक्स से जुड़ी परेशानियों के हल।। टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया से जानें आपकी टैक्स की समस्याएं के सटीक हल।


सवालः घर में अगर अपना हिस्सा बेटे को गिफ्ट करते हैं तो क्या टैक्स लगेगा और किसको लगेगा?


सुभाष लखोटिया: बेटे को प्रॉपर्टी गिफ्ट करने पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। प्रॉपर्टी गिफ्ट करने के लिए आप गिफ्ट डीड बनाएं। भविष्य़ में बेटा जब प्रॉपर्टी बेचेगा तो कैपिटल गेन उसे चुकाना होगा। गिफ्ट करने वाले व्यक्ति को जिस किमत पर प्रॉपर्टी मिली, वहीं कीमत बेटे के लिए मान्य होगी।


सवालः पुरानी कंपनी में 3 साल काम किया और 17 लाख रुपये पीएफ के मिले, क्या इस पर टैक्स लगेगा?


सुभाष लखोटियाः आईटी कानून के तहत किसी कंपनी के पीएफ को 5 साल से ज्यादा बनाए रखने पर ही रकम टैक्स फ्री होगी। अगर आप 5 साल से पहले नौकरी बदलते हैं तो पीएफ को नई कंपनी में ट्रांसफर कर लें। अगर आपने इसे 5 साल से पहले पीएफ से पैसा निकाल लिया तो इस पर टैक्स लग जाएगा।


सवालः शेयर ट्रेडिंग से शॉर्ट टर्म और लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन होता है, तो शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन के केस में किस तरह के खर्चों पर छूट मिलती है?


सुभाष लखोटिया: शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन कमाने में हुए सभी वास्तवित खर्च पर छूट मिलेगी। शेयर की कीमत के साथ ही निवेश के लिए लिये लोन के ब्याज पर भी छूट मिलेगी। इसके अलावा बड़े पैमाने पर ट्रेडिंग के लिए स्टाफ रखा है तो उसका खर्च भी बतौर छूट मिलेगा। लेकिन अगर कम ट्रेडिंग की और स्टाफ का खर्च दिखाएंगे तो छूट नहीं मिलेगी।


सवालः डिपॉजिट ए/डिपॉजिट बी खाते से मिले ब्याज पर टैक्स कैसे लगता है?


सुभाष लखोटिया: डिपॉजिट ए/डिपॉजिट बी खाते के ब्याज पर टैक्स लगता है। इसका ब्याज इनकम में जोड़कर टैक्स लगेगा। डिपॉजिट ए एक ब्याज खाता है और साल भर में इसके 10,000 रुपये तक के ब्याज पर टैक्स छूट मिलती है। सेक्शन 80टीटीए के तहत बचत खाते के ब्याज पर टैक्स छूट मिल सकती है।


सवालः क्या एनआरआई भारत में पहली बार शेयर में निवेश करके सेक्शन 80सीसीजी की छूट ले सकते हैं?


सुभाष लखोटियाः एनआरआई शेयर में निवेश कर सेक्शन 80सीसीजी के तहत टैक्स छूट नहीं ले सकते हैं। सेक्शन 80सीसीजी के तहत छूट का फायदा भारत में रहने वाले व्यक्तियों के लिए है। एचयूएफ आदि टैक्स इकाई को सेक्शन 80सीसीजी की टैक्स छूट का फायदा नहीं मिलेगा।


वीडियो देखें