टैक्स गुरु: सुलझाएं टैक्स से जुड़ी आपकी उलझन -
Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरु: सुलझाएं टैक्स से जुड़ी आपकी उलझन

प्रकाशित Sat, 30, 2015 पर 17:24  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स एक ऐसा टॉपिक है जिसका नाम आते ही टेंशन हो जाती है, आपकी इसी टेंशन को दूर कर टैक्स को आसान बनाते हैं टैक्स गुरु। तो आइए टैक्स से जुड़ी हर बारिकियों पर लेते हैं टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया की सलाह


सवाल: लाखोटिया जी कैश पेमेंट करते समय किसी बिजनेसमैन को किन बातों का ख्याल रखना चाहिए?


सुभाष लखोटिया: कैश पेमेंट करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। सबसे पहले तो बिजनेस में 20000 रुपये से ज्यादा कैश पेमेंट न करें। साथ ही 20000 रुपये ज्यादा कैश लोन भी नहीं दें। ज्यादा कैश लोन देने पर लोन की रकम के बराबर जुर्माना हो सकता है। हां, कैश गिफ्ट कितनी भी रकम का दे सकते हैं, इसके लिए प्रूफ नहीं चाहिए।


सवाल: मेरी मां को बिहार सरकार से सालाना करीब 3 लाख रुपये फेमिली पेंशन मिलती है। इसके अलावा उनको 15-20 रुपये सालाना की बैंक से ब्याज आय होती है। मुझे अपनी मां के लिए कौन सा रिटर्न फार्म फाइल करना होगा?


सुभाष लखोटिया: आपकी मां को फैमिली पेंशन मिल रही है। मां को अपना रिटर्न आईटीआर 1 में भरना होगा। फैमिली पेंशन पर सालाना 15000 रुपये की अतिरिक्त छूट मिलती है।


सवाल: मैं रिटायर्ड सरकारी कर्मचारी हूं। मुझे 55000 रुपये पेंशन मिलती है। 2 साल पहले 9 लाख रुपया बकाया पेशन मिला। क्या मुझे टैक्स देना होगा?


सुभाष लखोटिया: सबसे पहले तो ये देखें कि 9 लाख रुपये पेंशन का बकाया है या रियाटरमेंट पर मिलने वाली राशि। अगर पेंशन का बकाया होता तो सरकार ने टीडीएस काटकर दिया होता। अपनी पुरानी कंपनी में संपर्क करके पेमेंट की जानकारी लें। अगर आपको बकाया मिला है तो टैक्स चुकाकर रिटर्न फाइल करें।


वीडियो देखें