Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू खबरें

आवाज़ इंवेस्टर क्लबः जानकारों के कमाई मंत्र

आवाज़ इंवेस्टर क्लब देश का ऐसा पहला इंवेस्टर क्लब है जहां आप बाजार के दिग्गजों से रुबरु होते है।
अपडेटेड May 30, 2015 पर 17:30  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीएनबीसी आवाज़ लेकर आया है देश का सबसे पहला आवाज़ इन्वेस्टर क्लब जिसमें दर्शक सीधे एक्सपर्ट्स से सवाल-जवाब कर सकते हैं अपने इन्वेस्टमेंट और ट्रेडिंग के टिप्स पर। आवाज़ इंवेस्टर क्लब देश का ऐसा पहला इंवेस्टर क्लब है जहां आप बाजार के दिग्गजों से रुबरु होते है, साथ ही बाजार की रणनीति जानने और अपनी निवेश से जुड़ी समस्याएं सुलझाने का भी मौका मिलता है वो भी बिना किसी एंट्री फी के। आज कमाई की टिप्स देने के लिए इन्वेस्टर क्लब में जुडेंगे एचआरबीवी क्लाइंट सॉल्यूशंस के टी एस हरिहर और आईआईएफएल प्राइवेट वैल्थ मैनेजमेंट की अनु जैन।


अनु जैन की बाजार पर सलाह


अनु जैन के मुताबिक जून सीरीज में मॉनसून, रेट कट का इंतजार, ग्रीस के हालात मिलकर बाजार पर असर डालेंगे। निफ्टी में 8270 के पास अच्छा सपोर्ट है। अगर रेट कट नहीं तो बाजार को निराशा होगी। 0.5 फीसदी की कटौती तो मुश्किल है लेकिन 0.25 फीसदी की कटौती संभव है। दरें नहीं घटी तो बाजार का सेंटीमेंट बिगड़ेगा।


अनु जैन के मुताबिक एचडीएफसी बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज और आईसीआईसीआई बैंक में निवेश किया जा सकता है। मिडकैप में सोच समझकर निवेश करना चाहिए और लार्ज कैप में निवेश बेहतर रहेगा। वैल्यू पिक को होल्ड करना जरूरी है और कंपनी का कारोबार, ग्रोथ प्लान, मैनेजमेंट के बारे में जानकारी लेने के बाद ही निवेश करना चाहिए। कंपनी का बिजनेस, ग्रोथ पता करें और फिर निवेश करें। मैनेजमेंट के बारे में जानना भी जरूरी है।


टी एस हरिहर की बाजार पर सलाह


टी एस हरिहर का कहना है कि निवेशकों को म्युचुअल फंड से अच्छा रिटर्न मिला है और उन्हें एसआईपी जारी रखनी चाहिए। अच्छी क्वालिटी वाले शेयर चुनने चाहिए और फार्मा, एफएमसीजी में निवेश करना चाहिए। बाजार में दिग्ग्जों में निवेश करना चाहिए। किसी एक शेयर के पीछे भागना ठीक नहीं है और एक मल्टीबैगर स्टॉक जल्दी नही बनता है। निफ्टी बीईईएस में निवेश किया जा सकता है। निफ्टी अगर नीचे हो ते निवेश कर सकते हैं और निफ्टी की गिरावट में खरीदारी करनी चाहिए। कंपनियों की ग्रोथ पर पर्फोर्मेंस निर्भर करती है और मार्केट की नजर ग्रोथ पर रहती है। कंपनी में ग्रोथ रहा तो मार्केट वैल्यूएशन देता है।


इंफो एज, जस्ट डायल लिस्टेड ई-कॉमर्स कंपनियां हैं और तेजी दिखा रही हैं। सेबी के नए नियम के बाद कई ई कॉमर्स कंपनियां आईपीओ ला सकती हैं। मिडकैप में मिडकैप फंड में निवेश करने का रास्ता अपनाया जा सकता है। मिडकैप में ग्लेनमार्क में खरीदारी की जा सकती है।


वीडियो देखें