Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरु: सुलझाएं एचयूएफ से जुड़ी उलझन

आइए टैक्स से जुड़ी हर बारिकियों पर लेते हैं टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया की सलाह।
अपडेटेड Jun 23, 2015 पर 12:17  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स एक ऐसा टॉपिक है जिसका नाम आते ही टेंशन हो जाती है, आपकी इसी टेंशन को दूर कर टैक्स को आसान बनाते हैं टैक्स गुरु। तो आइए टैक्स से जुड़ी हर बारिकियों पर लेते हैं टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया की सलाह।


सवाल : लखोटिया जी ये बताएं कि 1 जून से कर दाताओं को किन बातों का ख्याल रखना होगा?


सुभाष लखोटिया : नए बजट में आयकर नियमों में करीब 15-20 संशोधन किए गए हैं। जिसमें से कुछ पर ध्यान देना बहुत जरूरी है। अब सैलरी पर टीडीएस नियम में सेक्शन 192 के तहत संशओधन किया गया है। जिसके तहत अब कंपनी के लिए कर्मचारी से छूट का प्रूफ लेना जरूरी कर दिया गया है। इसके साथ ही एचआरए/एलटीए लेन के ब्याज आदि का प्रूफ लेना भी जरूरी कर दिया गया है। अब 5 साल से पहले ईपीएफ से पैसे निकालने पर 10 फीसदी टीडीएस देना होगा। ये भी बता दें कि पैन नहीं होने पर टीडीएस की दर 30 फीसदी होगी। एक और बदलाव के तहत अब सेक्शन 194ए के तहत आरडी के ब्याज पर 10 फीसदी टीडीएस कटेगा।


आपको बता दें कि बिजनेस ट्रस्ट को किराया देने पर टीडीएस नहीं कटेगा। लेकिन एनआरआई को बिजनेस ट्रस्ट से मिली राशि पर टीडीएस कटेगा। अब असेसमेंट ऑर्डर रद्द करने के लिए आईटी कमिश्नर को ज्यादा अधिकार दे दिए गए हैं। इसके अलावा नए नियमें को तहत अब प्रॉपर्टी खरीद-बिक्री में कैश लेन-देन पर जुर्माना लगाया जाएगा।


सवाल :  मैनें अपने पिता के साथ ज्वाइंट हाउसिंग लोन लिया है। मैं फर्स्ट होल्डर हूं और मेरे पिता सेकेंड होल्डर हैं। लेकिन प्रॉपर्टी मेरे पिता जी के नाम पर ही है। मुझे ये बता दें की मुझे कर छूट का लाभ कैसे मिलेगा?  इसकी प्रक्रिया क्या है?


सुभाष लखोटिया : आपको होम लोन के ब्याज पर छूट नहीं मिलेगी। होम लोन के ब्याज पर छूट प्रॉपर्टी के मालिक को मिलती है। प्रॉपर्टी आपके पिता के नाम है तो वो ही मालिक हैं। आप प्रॉपर्टी को पिता से खरीद लें ये उसे गिफ्ट में लें तभी आपको छूट मिलेगी।


सवाल : मुझे अपनी बहन से फ्लैट मिला है। क्या इस फ्लैट को अपने एचयूएफ को ट्रांसफर कर सकते हैं?


सुभाष लखोटिया : एचयूएफ बनाने में कोई परेशानी नहीं है। आप सेक्शन 56 के तहत फ्लैट एचयूएफ को ट्रांसफर कर सकती हैं। आपको बता दें कि फ्लैट से होने वाली इनकम आपकी इनकम में जुड़ेगी। फ्लैट एचयूएफ के ट्रांसफर करने पर आप फ्लैट की मालिक नहीं रह जाएंगी। सिर्फ फ्लैट के मालिक को ही होम लोन के ब्याज पर छूट हासिल होगी। हां, ट्रस्ट और एचयूएफ बैंक में फॉर्म 15जी दे सकते हैं।


वीडियो देखें