Moneycontrol » समाचार » टैक्स

जानें कब लगता है नौकरी बदलने पर टैक्स

प्रकाशित Thu, 09, 2015 पर 12:34  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नौकरियां बदलना आम बात है, अच्छी सैलरी, बेहतर कंपनी या फिर अपना ग्रोथ, कई वजहें हैं जिससे लोग नौकरी बदलते हैं। लेकिन कई बातें हैं जिन्हें ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। टैक्स के लिहाज से महत्वपूर्ण बातों के बारे में बताएंगे टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया। आज नौकरी बदलने पर किस तरह से बनती है टैक्स की देनदारी, इससे जुड़े सवालों के जवाब देंगे टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया।


सवालः कंपनी से 60 लाख सालाना तनख्वाह मिलती है और अपनी पुरानी कंपनी से 17 लाख पीएफ मिला है। पुरानी कंपनी में 3 साल काम किया था तो पीएफ पर टैक्स कैसे लगेगा। सिर्फ कंपनी के कॉन्ट्रीब्यूशन पर या पूरी रकम पर टैक्स देना होगा। साथ ही जब अपनी पुरानी कंपनी में रिटर्न भरा था तो उन्हें 80सी के तहत पीएफ के लिए सिर्फ 1 लाख की छूट का फायदा मिला था और बाकी रकम पर टैक्स कटा था। क्या ये डबल टैक्सेशन का मामला है?


सुभाष लखोटियाः आईटी कानून के शेड्यूल 4 रूल 8 के तहत कंपनी में 5 साल ये ज्यादा काम करने पर ही पीएफ की रकम टैक्स फ्री होगी। 5 साल से कम समय कंपनी में काम किया तो पीएफ की रकम पर टैक्स लगेगा। पीएफ की रकम इनकम में जोड़कर टैक्स लगेगा। आपका मामला डबल टैक्सेशन का नहीं है। सरकार की कोशिश है की लोग 5 साल से पहले प्रोविडेंट फंड की रकम नहीं निकालें।


सवालः 5 साल में अपनी पत्नी को 5 लाख गिफ्ट दिया है जिन्हें उनकी पत्नी ने शेयर और टैक्स फ्री बॉन्ड में निवेश किया। चूंकि रिटर्न टैक्स फ्री था इसलिए दोनों ही पति-पत्नी ने इस पर कोई टैक्स नहीं दिया। अब उस रकम को कॉरपोरेट बॉन्ड में निवेश कर दिया है और जानना चाहते हैं कि टैक्स किसे देना होगा?


सुभाष लखोटियाः गिफ्ट की रकम शेयर और टैक्स फ्री बॉन्ड में निवेश करना अच्छा विकल्प है। इससे होने वाली रकम टैक्स फ्री है तो किसी को टैक्स नहीं लगेगा। कॉरपोरेट बॉन्ड के ब्याज पर टैक्स देना होगा। कॉरपोरेट बॉन्ड का ब्याज पति की इनकम में जुड़ेगा। सेक्शन 64 के तहत क्लबिंग प्रावधान लागू होगा।


सवालः मैं अपनी पत्नी, भाई, बेटे, पोते और बहू को कितना गिफ्ट दे सकता हूं ताकि किसी पर टैक्स की कोई देनदारी नहीं हो। रिटायरमेंट पर 10 लाख रुपये मिले थे जिसे उन्होंने पत्नी के नाम से बैंक में एफडी कर दिया है। जानना चाहते है की क्या एफडी से मिली ब्याज पर टैक्स लगेगा?  


सुभाष लखोटियाः भाई और बेटे को गिफ्ट में पैसे दे सकते हैं टैक्स नहीं लगेगा। सेक्शन 56 के तहत भाई-बेटा रिश्तेदार माने जाएंगे। हालांकि पोते और बहू को गिफ्ट देने पर क्लबिंग प्रावधान लागू होगा। सेक्शन 64 के तहत गिफ्ट से होने वाली इनकम गिफ्ट देने वाले के इनकम में जुड़ेगी। चूंकि आपने पैसे पत्नी के नाम से बैंक में एफडी किये हैं तो एफडी से होने वाला ब्याज आपकी इनकम में जोड़ा जाएगा।


सवालः 3 साल तक एक कंपनी में काम किया। पिछले 6 महीने से एक सरकारी कॉलेज में पढ़ा रहे हैं। उन्होंने पुरानी कंपनी का पीएफ निकाल लिया है और जानना चाहता हूं कि क्या इस रकम पर टैक्स लगेगा। अगर हां, तो क्या इस रकम को कहीं निवेश कर टैक्स बचा सकते हैं।


सुभाष लखोटियाः पीएफ की रकम पर टैक्स देना होगा क्योंकि 5 साल से कम पहले वाली कंपनी में काम किया है। जिस साल रकम निकाली उस साल की इनकम में जुड़कर टैक्स कटेगा। 5 साल से पहले प्रोविडेंट फंड की रकम निकालने पर टैक्स लगता है।


वीडियो देखें