Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

खबरों वाले शेयर, आप जरूर रखें नजर

जानिए कौन से हैं वो शेयर जो खबरों के दम पर हलचल दिखा सकते हैं।
अपडेटेड Aug 12, 2015 पर 09:23  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जानिए कौन से हैं वो शेयर जो खबरों के दम पर हलचल दिखा सकते हैं।


कोल इंडिया नतीजे अनुमान
आवाज़ अनुमान के मुताबिक वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में कोल इंडिया का मुनाफा 1.7 फीसदी बढ़कर 4100 करोड़ रुपये रह सकता है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में कोल इंडिया का मुनाफा 4033 करोड़ रुपये रहा था। वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में कोल इंडिया की बिक्री 8.5 फीसदी बढ़कर 19,309 करोड़ रुपये रह सकती है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में कोल इंडिया की बिक्री 17,800 करोड़ रुपये रही थी। साल दर साल आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में कोल इंडिया का एबिटडा 4281 करोड़ रुपये से बढ़कर 4660 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है। अप्रैल-जून तिमाही में कोल इंडिया का एबिटडा मार्जिन 24.05 फीसदी से बढ़कर 24.13 फीसदी रहने का अनुमान है।


अशोक लेलैंड नतीजे अनुमान
आवाज़ अनुमान के मुताबिक वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में अशोक लेलैंड को 122 करोड़ रुपये का मुनाफा हो सकता है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में अशोक लेलैंड को 47.9 करोड़ रुपये का घाटा रहा था। वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में अशोक लेलैंड की आय 50 फीसदी बढ़कर 3724 करोड़ रुपये रह सकती है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में अशोक लेलैंड की आय 2477.8 करोड़ रुपये रही थी। साल दर साल आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में अशोक लेलैंड का एबिटडा 2.8 गुना बढ़कर 325.7 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है। वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में अशोक लेलैंड का एबिटडा 116 करोड़ रुपये रहा था। अप्रैल-जून तिमाही में अशोक लेलैंड का ऑपरेटिंग प्रॉफिट मार्जिन सालाना आधार पर 4.7 फीसदी से बढ़कर 8.8 फीसदी रहने का अनुमान है।


सन फार्मा
वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में सन फार्मा का मुनाफा 46 फीसदी घटकर 479 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2015 की चौथी तिमाही में सन फार्मा का मुनाफा 886.8 करोड़ रुपये रहा था। वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में सन फार्मा की आय 9.8 फीसदी बढ़कर 6,757.6 करोड़ रुपये हो गई है। वित्त वर्ष 2015 की चौथी तिमाही में सन फार्मा की आय 6,157 करोड़ रुपये रही थी। तिमाही आधार पर पहली तिमाही में सन फार्मा का एबिटडा 892.4 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,859.7 करोड़ रुपये हो गया है। तिमाही दर तिमाही आधार पर पहली तिमाही में सन फार्मा का एबिटडा मार्जिन 14.5 फीसदी से बढ़कर 27.5 फीसदी हो गया है।


एनएमडीसी
वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में एनएमडीसी का मुनाफा 47.3 फीसदी गिरकर 1,010 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में एनएमडीसी का मुनाफा 1,915 करोड़ रुपये रहा था। वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में एनएमडीसी की आय 48 फीसदी गिरकर 1,806.4 करोड़ रुपये हो गई है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में एनएमडीसी की आय 3,477 करोड़ रुपये रही थी। सालाना आधार पर पहली तिमाही में एनएमडीसी का एबिटडा 2,402 रुपये से घटकर 1,103 करोड़ रुपये हो गया है। साल दर साल आधार पर पहली तिमाही में एनएमडीसी का एबिटडा मार्जिन 69.1  फीसदी से घटकर 61 फीसदी हो गया है।


रिलायंस पावर
वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में रिलायंस पावर का मुनाफा 41 फीसदी बढ़कर 344.3 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में रिलायंस पावर का मुनाफा 244.4 करोड़ रुपये रहा था। वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में रिलायंस पावर की आय 58 फीसदी बढ़कर 2,768 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में रिलायंस पावर की आय 1,753.1 करोड़ रुपये रही थी। साल दर साल आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में रिलायंस पावर का एबिटडा 635 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,170 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर पहली तिमाही में रिलायंस पावर का एबिटडा मार्जिन 36.2 फीसदी से बढ़कर 42.3 फीसदी रहा है।


टाटा स्टील
वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में टाटा स्टील का मुनाफा 2.3 गुना बढ़कर 763 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में टाटा स्टील का मुनाफा 337 करोड़ रुपये रहा था। पहली तिमाही में टाटा स्टील को 158.4 करोड़ रुपये का अतिरिक्त मुनाफा हुआ है। वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में टाटा स्टील की आय 16.8 फीसदी घटकर 30300 करोड़ रुपये हो गई है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में टाटा स्टील आय 36427 करोड़ रुपये रही थी। सालाना आधार पर पहली तिमाही में टाटा स्टील की अन्य आय 216.1 करोड़ रुपये के मुकाबले 762.2 करोड़ रुपये रही है। सालाना आधार पर पहली तिमाही में टाटा स्टील का एबिटडा 4273 करोड़ रुपये से घटकर 2774 करोड़ रुपये हो गया है। साल दर साल आधार पर पहली तिमाही में टाटा स्टील का एबिटडा मार्जिन 11.7  फीसदी से घटकर 9.2 फीसदी हो गया है। सालाना आधार पर पहली तिमाही में टाटा स्टील का टैक्स खर्च 1080 ककरोड़ रुपये के मुकाबले 515 करोड़ रुपये रहा है।


कोल इंडिया
कोल इंडिया की 10 फीसदी हिस्सेदारी बेचने पर फैसला आज होगा। सरकार की 20,000 करोड़ रुपये से ज्यादा जुटाने की योजना है।


सन फार्मा पर बार्कलेज
सन फार्मा के नतीजे उम्मीद के मुताबिक रहे हैं और इसका आउटलुक पॉजिटिव है। सन फार्मा पर इक्वलवेट रेटिंग बरकरार है और लक्ष्य 922 रुपये तय किया है।


केईसी इंटरनेशनल
कंपनी ने 838 करोड़ रुपये का ऑर्डर जीता है।


टीआरएफ
बीएचईएल आईएसजी बंगलुरू से 73.9 करोड़ रुपये का ऑर्डर मिला है।


एलएंडटी
भारतीय सेना से 530 करोड़ रुपये का ऑर्डर मिलने की पूरी संभावना है।


अदानी एंटरप्राइजेज
भारतीय उच्चायोग ने ऑस्ट्रेलियन प्रोजेक्ट पर फटकार लगाई है। अदानी को प्रोजेक्ट पर तेजी से काम शुरू करने को कहा है।


ट्रैंट
मिडकैप ओपीपी फंड ने 2.50 लाख शेयर 1325 रुपये पर खरीदे हैं। मॉर्गन स्टेनली एशिया सिंगापुर ने 2.50 लाख शेयर 1325 रुपये पर बेचे हैं।


टाइटन कंपनी


टाटा स्टील ने 1.94 करोड़ शेयर टाटा सन्स को 329.35 रुपये पर बेचे हैं। 
 
नितेश एस्टेट्स
वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में नितेश एस्टेट्स को 20.3 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में नितेश एस्टेट्स को 3.4 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में नितेश एस्टेट्स की आय 13.5 फीसदी गिरकर 48.8 करोड़ रुपये हो गई है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में नितेश एस्टेट्स की आय 56.4 करोड़ रुपये रही थी।


प्रेस्टीज एस्टेट्स
वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में प्रेस्टीज एस्टेट्स का मुनाफा 23.3 फीसदी बढ़कर 128.2 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में प्रेस्टीज एस्टेट्स का मुनाफा 104 करोड़ रुपये रहा था। वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में प्रेस्टीज एस्टेट्स की आय 23.6 फीसदी बढ़कर 696 करोड़ रुपये हो गई है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में प्रेस्टीज एस्टेट्स की आय 563.1 करोड़ रुपये रही थी। वित्त वर्ष 2016 की पहली तिमाही में प्रेस्टीज एस्टेट्स की अन्य आय 122.3 करोड़ रुपये हो गई है। वित्त वर्ष 2015 की पहली तिमाही में प्रेस्टीज एस्टेट्स की अन्य आय 52.5 करोड़ रुपये रही थी।


वीडियो देखें