Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

योर मनी: खुद का बिजनेस करने वाले कैसे लें होम लोन

होम लोन लेना सैलरीड क्लास वालों के लिए भले उतना झंझटभरा ना हो लेकिन खुद का बिजनेस करने वालों के लिए ये सिरदर्द हो सकता है।
अपडेटेड Sep 15, 2015 पर 18:02  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अकसर हम अपने लिए फाइनेंशियल गोल्स तो तय कर लेते हैं, लेकिन उन्हें पूरा करने का जरिया समझ नहीं आता। और यहीं हम आपके सवालों के जवाब के जरिए आपकी वित्तीय उलझनों के सुलझाने में मदद करते हैं। तमाम मुद्दों और सवालों के जवाब देने के लिए आज हमारे साथ हैं रूंगटा सिक्योरिटीज के हर्षवर्धन रूंगटा। लेकिन आज हम सबसे पहले बात करते हैं होम लोन की।


होम लोन लेना सैलरीड क्लास वालों के लिए भले उतना झंझटभरा ना हो लेकिन खुद का बिजनेस करने वालों के लिए ये सिरदर्द हो सकता है। ज्यादातर बैंक अक्सर ऐसे लोगों को तवज्जो देते हैं जिनके पास रेगुलर इनकम पाने का सोर्स हो, क्योंकि ऐसे लोगों को लोन देना ज्यादा सुरक्षित होता है।


खुद का बिजनेस करने वालों के इनकम की गारंटी नहीं होती, ऐसे में अपने घर के सपने को पूरा करने के लिए ऐसे लोग क्या करें, किन बातों का ध्यान रखें, किन डॉक्यूमेंटस पर वर्क करें ताकी उन्हें होम लोन आसानी से मिल जाए, इसी पर चर्चा करते हुए हर्षवर्धन रूंगटा ने कहा कि अपना बिजनेस करने वाले लोगों को लोन लेते समय अपनी आय की निरंतरता और पर्याप्तता साबित करने के लिए कुछ जरूरी दस्तावेज चाकचौबंद रखने चाहिए। इन दस्तावेजों में पिछले 3 साल का आईटीआर, बैलेंस शीट, प्रॉफिट लॉस, इनकम स्टेटमेंट और कैश फ्लो स्टेटमेंट शामिल हैं। कैश फ्लो स्टेटमेंट से आपकी ईएमआई भरने की क्षमता का पता चलता है। इसके अलावा बिजनेस के बारे में जानकारी, और टॉप टेन ग्राहकों के नाम भी देने होते हैं।


हर्षवर्धन रूंगटा के मुताबिक अपना खुद का कारोबार करने वाले लोगों को होम लोन लेते समय परिवार के सदस्य या किसी रिश्तेदार को गारेंटर बनाना चाहिए। जिससे लेंडर में लोन लेने वाले के प्रति विश्वास पैदा होता है।


हर्षवर्धन रूंगटा ने कहा कि अपना खुद का कारोबार करने वाले लोगों को होम लोन लेने के लिए सबसे पहले अपने मौजूदा बैंक के पास ही जाएं। मौजूदा बैंक के पास जाने से झंझट कम होगा क्योंकि आपका बैंक आपकी वित्तीय स्थिति से वाकिफ होता है।


वीडियो देखें