Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

योर मनीः कैसे बचें फाइनेंशियल धोखे से

पैसा रिश्ते बनाता-तोडता भी है, लेकिन सूखी शादी-शूदा जिंदगी के लिए अपने जीवन साथ के साथ हर माइने में ईमानदार रहना बेहद जरूरी है।
अपडेटेड Oct 24, 2015 पर 16:58  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पैसा रिश्ते बनाता है तो तोडता भी है, लेकिन सूखी शादी शूदा जिंदगी के लिए अपने जीवन साथ के साथ हर माइने में ईमानदार रेहना बेहद जरूरी है। लेकिन एसे में हम फाइनेंशियल ईमानदारी भूल जाते हैं, और जाने-अनजाने पैसों को लेकर जीवन साथी के साथ धोखा कर बैठते हैं। कैसे होता है ये धोखा, इसे क्या नुकसान है, और क्या इसकी वजह से आपे रिश्ते में खटास आ सकती है? इन्ही सभी मुद्दों फोकस करने के लिए योर मनी लेकर आया है अपनी खास पेशकश दिल, दौलत और धोखा और इस पर बात करने के लिए जुड़ेंगे फाइनेंशियल प्लानर गौरव मशरूवाला और अर्णव पंडया।


फाइनेंशियल प्लानर गौरव मशरूवाला का कहना है कि अपने जीवनसाथी से आमदनी छुपाना, शादी से पहले कोई लोन लिया हो जिसकी जानकारी ना देना, इसके अलावा अन्य किसी भी तरह के लेन-देन की जानकारी नहीं देना फाइनेंशियल धोखा हो सकता है। शादी से पहले या उसके बाद की कोई भी ट्राजैंक्शन डिटेल, माता-पिता या भाई-बहन की जिम्मेदारीयों को अपने जीवनसाथी से नहीं छुपाना चाहिए। अगर ऐसा किया जाए या किसी भी तरह के लोन के बारे में नहीं बताया जाएं तो वो फाइनेंशियल धोखा हो सकता है। ऐसे सभी खर्चें, सभी निवेश जिनके बारे में जीवन साथी को जानकारी नहीं वो सभी फाइनेंशियल धोखे में शामिल होते हैं।


वीडियो देखें