Moneycontrol » समाचार » बीमा

जीवन के हर मोड़ के लिए बीमा विकल्प

प्रकाशित Sat, 23, 2010 पर 10:15  |  स्रोत : Hindi.in.com

23 अक्टूबर 2010

सीएनबीसी आवाज़


बजाज कैपिटल के ग्रुप सीईओ और डायरेक्टर अनिल चोपड़ा का कहना है कि व्यक्ति को निवेश करना जल्दी शुरू करना चाहिए। इसके अलावा इंश्योरेंस भी जल्दी कराना चाहिए। आमतौर पर 25-26 साल की आयु तक व्यक्ति कमाने लगता है। जैसे ही आमदनी मिलने लगे व्यक्ति को बचत, निवेश, बीमा में क्षमतानुसार पूंजी लगानी चाहिए।



अनिल चोपड़ा के अनुसार इंश्योरेंस को निवेश विकल्प के रूप में नहीं लेना चाहिए। निवेश और इंश्योरेंस दो अलग-अलग बातें हैं। इंश्योरेंस के जरिए आप रिस्क कवर करते हैं जिससे आपको कुछ होने की सूरत में आपके आश्रितों को आर्थिक दिक्कतों का सामना ना करना पड़े।


30 साल के लिए 30 लाख रुपये के टर्म इंश्योरेंस प्लान-


अविवा लाइफ शील्ड प्लस (6850 सालाना प्रीमियम ), कोटक प्रेफर्ड टर्म प्लान (सालाना प्रीमियम 4633 रुपये), एसबीआई लाइफ स्मार्ट शील्ड (सालाना प्रीमियम 5795 रुपये) अच्छे विकल्प हैं।


20 साल के लिए 1 करोड़ रुपये के टर्म इंश्योरेंस प्लान-

आईसीआईसीआई प्रू आई-प्रोटेक्ट (सालाना प्रीमियम 14,670 रुपये), कोटक प्रेफर्ड टर्म प्लान प्रीमियम (सालाना प्रीमियम 18,889 रुपये), एसबीआई लाइफ स्मार्ट शील्ड (सालाना प्रीमियम 22,591रुपये), भारती अक्सा एलीट सिक्योर (सालाना प्रीमियम 27,465 रुपये) बिड़ला हाई नेटवर्थ प्लान (सालाना प्रीमियम 27,685 रुपये)
 


अनिल चोपड़ा के मुताबिक अगर टर्म प्लान में हेल्थ कवर जैसे राइडर भी साथ में चाहिए तो एनडाउमेंट प्लान ले सकते हैं।

हेल्थ ऑप्शन में अपोलो म्यूनिख का ईजी हेल्थ एक्सक्लूसिव प्लान ले सकते हैं। ये एक फैमिली फ्लोटर है इसलिए इस पॉलिसी में आपके साथ आपके माता-पिता को भी हेल्थ कवर मिल जाएगा।



3 लाख के हेल्थ कवर के लिए सालाना प्रीमियम 16,491 रुपये है। इसमें आपको प्री-पोस्ट हॉस्पिटलाजेशन सुविधा मिलती है। इमरजेंसी केस में एंबुलेंस बुलाने पर आने वाले खर्च के लिए भी 2000 रुपये तक का भुगतान कंपनी करती है। इसके अलावा गंभीर बीमारियों के लिए अतिरिक्त कवर भी मिलता है।



अगर आप लंबे समय तक क्लेम नहीं करते हैं तो आपको 10 फीसदी की दर से क्यूमलेटिव बोनस मिल सकता है। अंगदान करते हैं तो इस पर आने वाले खर्च को भी पॉलिसी के अंतर्गत कवर किया जाता है।


चाइल्ड प्लान



अनिल चोपड़ा के मुताबिक जैसे ही आपके जीवन में संतान आ जाती है तो आपको तुरंत ही चाइल्ड प्लान लेना चाहिए। 15-20 साल में आपके बच्चे के लिए अच्छी पूंजी का निर्माण हो सकता है और उसके भविष्य की जरूरतों के लिए ये पूंजी काफी बहुमूल्य हो सकती है। चाइल्ड प्लान में ऐसे प्लान लेने चाहिए जिसमें विकल्प मिलता हो कि अगर माता-पिता को कुछ हो जाता है तो आगे के प्रीमियम कंपनी देगी और पॉलिसी चलती रहेगी। 


पेंशन प्लान


इसके साथ ही अनिल चोपड़ा का कहना है कमाई शुरू होने के साथ ही आपको रिटायरमेंट के लिए भी बचत शुरू कर देनी चाहिए। इसके लिए पेंशन प्लान चुन सकते हैं। एलआईसी पेंशन प्लस अच्छा चुनाव हो सकता है। ये एक यूलिप है और इसमें मेच्योरिटी के बाद पैसा एन्युटी के रूप में मिलता है। एक बात ध्यान रखें कि पॉलिसी के बीच में आपको कोई पैसा नहीं मिलता है। मेच्योरिटी के बाद 4.5 फीसदी के रिटर्न की गारंटी भी मिलती है।


अच्छे पेंशन प्लान में टाटा एआईजी महा लाइफ गोल्ड प्लान भी ले सकते हैं। ये एक व्होल लाइफ प्लान है, इसमें निवेश करने पर 100 फीसदी टैक्स छूट मिलती है। पॉलिसी के 10 साल पूरे होने के बाद से मेच्योरिटी तक हर साल सम अश्योर्ड का 5 फीसदी मिलता है।



वीडियो देखें