Moneycontrol » समाचार » आईपीओ - क्लासरूम

भरत शाह की निवेश रणनीति

क्या बॉम्ब ब्लास्ट और बाजार में भारी गिरावट आपके करियर के सबसे चुनौती-भरे दिन थे?
अपडेटेड Nov 18, 2010 पर 09:06  |  स्रोत : Hindi.in.com

moneycontrol.com



एएसके रेमंड्स जेम्स सिक्योरिटीज के सीईओ और मैनेजिंग पार्टनर भरत शाह की निवेश रणनीति के बारे में जानने के लिए बीएसई के सदस्य ने मुलाकात की।



सवाल: आपकी शेयर बाजार में दिलचस्पी कैसे बनी?



भरत शाह: 1982 में मैंने कुछ पैसे कमाने के उद्देश्य से शेयर बाजार में पैसा लगाना शुरू किया।


सवाल: क्या आपके परिवार का कोई सदस्य शेयर बाजार में रुचि रखता था?



भरत शाह: नहीं। लेकिन, मुझे शेयर बाजार में काफी मजा आने लगा था। इसलिए मैंने पैसा लगाना जारी रखा। मैं हर बिजनेस मैग्जीन पढ़ता था। साथ ही, कई कंपनियों की बैलेंसशीट को भी मैंने पढ़ा।


सवाल: आपने शेयर बाजार में करियर शुरू करने से पहले क्या तैयारी की?



भरत शाह: फाइनेंस और निवेश में दिलचस्पी होने से मैंने सीए बनने का फैसला लिया। उसके बाद मैंने कॉस्ट-अकाउंटिंग और एमबीए की भी पढ़ाई की। लेकिन, तब मेरा इरादा शेयर बाजार में उतरने का नहीं था।


सवाल: आपकी शेयर बाजार की पहली नौकरी कौन सी थी?



भरत शाह: 1990 में मैंने फैसला किया कि मैं शेयर बाजार में काम करना चाहता हूं। उस वक्त बाजार में बदलाव आ रहा था। मैंने कई कंपनियों के बारे में रिसर्च करना शुरू किया।


सवाल: क्या बॉम्ब ब्लास्ट और बाजार में भारी गिरावट आपके करियर के सबसे चुनौती-भरे दिन थे?



भरत शाह: हां। उस वक्त मेरे पास नौकरी नहीं थी। करीब 2 साल बाद मैंने बिड़ला सन लाइफ म्यूचुअल फंड में काम करना शुरू किया।


सवाल: तकनीकी शेयरों में आपकी दिलचस्पी कब बढ़ी?



भरत शाह: निवेश करते वक्त हमेशा याद रखना चाहिए कि अंडरवैल्यूएड शेयर से मुनाफा कमाया जा सकता है। मुझे तकनीकी शेयरों के मूल्यांकन और कीमत में काफी अंतर नजर आया, जिसका मैंने फायदा उठाया। साथ ही, तकनीकी कंपनियों के मार्जिन काफी थे।


सवाल: क्या आपको तकनीकी शेयरों में निवेश करने का पछतावा हुआ है क्या?



भरत शाह: हां। 2000 में तकनीकी शेयरों में भारी गिरावट के बाद मुझे पछतावा तो जरूर हुआ। लेकिन, मैंने ऊंची कीमतों पर शेयर नहीं खरीदे थे। मुझे उस वक्त अपने पोर्टफोलियो में तकनीकी शेयरों के हिस्से को कम कर देना चाहिए था, जो मैंने नहीं किया।


सवाल: तो फिर आपकी निवेश रणनीति क्या है?



भरत शाह: मेरा मानना है कि मुनाफा कमाने के लिए मूल्यांकन और शेयर की कीमत के अंतर को समझना जरूरी है। निवेशकों को शेयर की कीमत के आधार पर निवेश नहीं करना चाहिए। कंपनी की वैल्यूएशन अगर कीमत से कम है, तो शेयर में कमजोरी आएगी। कंपनी का मूल्यांकन समझने के लिए इंडस्ट्री और कंपनी के बारे में जानकारी होना जरूरी है।



अच्छा निवेशक बनने के लिए किसी डिग्री की जरूरत नहीं है। आपके पास बाजार की समझ, कंपनियों की जानकारी और फैसले लेने की क्षमता होना काफी है।