Moneycontrol » समाचार » म्यूचुअल फंड विश्लेषण

जोखिम बनाम रिटर्न

किसी भी निवेश से एक से ज्यादा रिटर्न की संभावनाएं बनती हैं तो उसके साथ जोखिम जुड़ा होता है।
अपडेटेड Nov 27, 2010 पर 16:53  |  स्रोत : Hindi.in.com

27 नवंबर 2010



moneycontrol.com



इस ब्लूचिप शेयर को खरीद लें इसमें कोई जोखिम नहीं है, अधिकांश लोग जो शेयर में निवेश करते हैं उनके लिए ये बात कोई नहीं होगी। वहीं जो लोग अपने पैसों का निवेश बॉन्ड या डिपॉजिट में करते हैं उनका एक ही मकसद होता है कि अपने पैसे के साथ जोखिम नहीं लेना है और पैसे को सुरक्षित अहम लक्ष्य है।



लेकिन उपर्युक्त पंक्तियों से यदि आप इत्तेफाक रखते हैं तो ये बिल्कुल भी सही नहीं है। किसी भी निवेश से एक से ज्यादा रिटर्न की संभावनाएं बनती हैं तो उसके साथ जोखिम जुड़ा होता है। सिर्फ जोखिम का स्तर विभिन्न होता है।



अनुमानित रिटर्न की समीक्षा के लिए जोखिम का उपयोग करें -



निवेश से हासिल होनेवाले रिटर्न की समीक्षा करने का यंत्र जोखिम है। साथ ही किस प्रकार का जोखिम आप झेल सकते हैं ये आपके अनुमानित रिटर्न पर निर्भर करता है। सबसे अहम है कि ज्यादा जोखिम उठाओगे तो ज्यादा रिटर्न हासिल होगा।



जैसा कि इक्विटी शेयरों में लंबी अवधि का किया गया निवेश ज्यादा रिटर्न देने का माद्दा रखता है। लेकिन कार्पोरेट बॉन्ड, डिपॉजिट, बैंक डिपॉजिट और सरकारी डेट में ज्यादा रिटर्न की उम्मीद नहीं कर सकते हैं। हालांकि इन सभी जोखिम का स्तर एकसमान ही होता है।



आप सोच रहे होंगे कि डेट में जोखिम कैसे हो सकता है? लेकिन इसमें भी जोखिम का समावेश होता है।



कंपनियां जोकि वित्तीय संकट से जूझ रही है वो आपके ब्याज के भुगतान में देरी कर सकती है या फिर आपके पैसे वापस में भी डिफॉल्ट कर सकती है। यहां तक कि सरकारी डेट में भी जोखिम होता है। सरकारी कंपनियों में भी वित्तीय संकट हो सकता है। कंपनी के फंड में कमी आने से ज्यादातर कंपनियां लोन वापस करने में डिफॉल्ट करती हैं। लेकिन सरकार ज्यादा मुद्राओं की प्रिंटिग करते हुए कर्ज का भुगतान कर सकती है। ऐसे में सरकारी बॉन्ड में लगाए गए आपके पैसे वापस मिलने की उम्मीद है। लेकिन यहां न दिखाई देनेवाला जोखिम छुपा होता है। ज्यादा नोटों की छपाई से महंगाई में बढ़ोतरी होने के आसार पैदा हो जाते हैं और ऐसे में आपके निवेश पर कम रिटर्न मिलना लाजिमी है।



अच्छे वित्तीय योजना के लिए जोखिम बनाम रिटर्न को समझें



आप सोच रहे होंगे कि जोखिम बनाम रिटर्न के संबंध को समझने की ऐसी खास जरूरत क्या है। क्योंकि यदि आप से अनजान रहते हैं तो आपका निवेश रिटर्न आपके जोखिम वाले प्रोफाइल से मेल नहीं खाएगा और आप मेहनत से कमाई गई आमदनी को ठीक से मैनेज करने में असमर्थ रहेंगे। गौरतलब है कि आपके रिटर्न में थोड़ा भी परिवर्तन आपके वित्तीय संपत्ति में बहुत बड़ा बदलाव कर सकता है।