निवेश पर एलटीसीजी का पेंच, समझें टैक्स का गणित -
Moneycontrol » समाचार » निवेश

निवेश पर एलटीसीजी का पेंच, समझें टैक्स का गणित

प्रकाशित Tue, 06, 2018 पर 09:40  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

इक्विटी पर 10 फीसदी लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लगा दिया गया है। अब ऐसे में अगर आप म्यूचुअल फंड में डिविडेंड ऑप्शन में हैं तो आपकी कमाई पर, यानी डिविडेंड पर डिविडेंड डिस्ट्रीब्यूएशन टैक्स जो की 10 फीसदी का होगा, वो लगेगा। साथ ही अगर आपकी कैपिटल गेन 1 लाख से ज्यादा होगी तो उसपर भी 10 फीसदी टैक्स देना होगा। योर मनी आज आपके इसी मुद्दे से जुडे सवालों के जवाब दे रहा है। हमने आपके सवाल ट्विटर, फेसबुक और इमेल के जरिए शो में शामिल किए हैं। हमारे साथ मौजूद हैं आनंद राठी प्राइवेट वैल्थ मैनेजमेंट के फिरोज अजीज। 


सवालः ईएलएसएस पर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स टैक्स का असर कैसे पड़ेगा। 15 साल के लिए 10 हजार के निवेश पर रिटर्न पर कितना टैक्स क्या निवेश में बने रहें?


फिरोज अजीजः ईएलएसएस फंड से मुनाफा पहले टैक्स फ्री था, लेकिन अब ईएलएसए फंड से हुए मुनाफे पर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लगेगा। 1 लाख से ज्यादा के गेन पर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लगेगा। शेयर और म्यूचुअल फंड की 1 लाख तक की कमाई पर टैक्स छूट है। ईएलएसएस फंड में 3 साल का लॉक-इन पीरियड है। ईएलएसएस फंड में सेक्शन 80C के तहत टैक्स बचत कर सकते है।



सवालः क्या डिविडेंड पे-आउट पर डिस्ट्रीब्यूशन टैक्स लगेगा? एक से ज्यादा म्यूचुअल फंड की कमाई और डिविडेंड पर टैक्स कैसे लगेगा। साथ ही एलटीसीजी टैक्स कब से लागू होगा। डिविडेंड ऑप्शन से ग्रोथ ऑप्शन में शिफ्ट होने पर एक्जिट लोड लगेगा। एलटीसीजी टैक्स सिस्टमैटिक विड्राअल प्लान पर कैसे लागू होगा। क्या डेट फंड की परिभाषा में कोई बदलाव किए गए हैं?


फिरोज अजीजः डिविडेंड पेआउट पर 1 लाख तक की छूट नहीं है।केवल कैपिटल गेन में ही 1 लाख की सीमा पर छूट मिलेगा। नया डीडीटी 1 अप्रैल से लागू किया जायेगा। ग्रोथ ऑप्शन में शिफ्ट होने की सलाह होगी। कोई एक्जिट लोड नहीं लगेगा। एसआईपी के जरिए किए हर निवेश को 1 साल पूरा होने दें। डेट फंड की परिभाषा में कोई बदलाव नहीं है। डेट फंड में 3 साल के बाद 20 फीसदी का टैक्स, इंडेक्सशेन के साथ लगेगा।