Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

पीएनबी जैसे घोटालों से बचाएंगी फिनटेक कंपनियां

प्रकाशित Thu, 01, 2018 पर 09:57  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बैंकों में पीएनबी जैसे घोटालों को रोकने के लिए फिनटेक कंपनियां तेजी से काम कर रही हैं। ये कंपनियां आधुनिक तकनीक जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और डीप लर्निंग का इस्तेमाल करके ऐसे प्लेटफॉर्म बना रही हैं जिनसे पीएनबी जैसे घोटालों को रोका जा सकता है।


बैंकों और फाइनेंस कंपनियों को पीएनबी जैसे घोटाले से बचाने के लिए फाइनेंशियल टेक्नोलॉजी यानि फिनटेक कंपनियों ने कमर कस ली है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, डीप लर्निंग, मशीन लर्निंग और नेचुरल लैंगवेज प्रोसेसिंग जैसी आधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल करके फिनटेक कंपनियां फ्रॉड मैनेजमेंट पर काम कर रही हैं। रियल टाइम डाटा से धोखाधड़ी पकड़ना आसान होगा।


फर्मवे ने एक ऐसा पोर्टल बनाया है जो ऑडिटर्स को थर्ड पार्टी बैकग्राउंड चेक करने का काम करता है और फ्रॉड से बचाता है। मनीटर नाम की कंपनी ने छोटे कर्जदारों से बकाया रकम वसूलने लिए भी एल्गोरिथम बनया है। कंपनी ने पिछले दो महीनों में चार ग्राहकों के साथ काम किया है जिनमें पी2पी लेंडर्स और एनबीएफसी हैं जो दो 2,000 रुपये से लेकर 10 लाख रुपये तक का लोन देती हैं।


जानकारों का कहना है कि दुनिया में सबसे ज्यादा काम डाटा प्रोटेक्शन और डाटा प्राइवेसी पर हो रहा है। बैंक फिनटेक कंपनियों के बनाए प्लेटफॉर्म्स का इस्तेमाल करके डिजिटल ऑडिट कर रहे हैं। इनकी वजह से बैंकों की ऑपरेटिंग कॉस्ट कम हो रही है।