Moneycontrol » समाचार » राजनीति

टक्कर: रिमांड पर कार्ति चिदंबरम, भ्रष्टाचार पर घिरी कांग्रेस!

प्रकाशित Sat, 03, 2018 पर 12:48  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीएनबीसी-आवाज़ पर एक और डिबेट शो टक्कर शुरू हो गया है। इसमें सोमवार से शुक्रवार रात 09:00 बजे आपसे जुड़े हुए मुद्दे उठाए जाते हैं और सरकार से पूछे जाते हैं तीखे सवाल। टीवी पर बहस तो बहुत होती रहती हैं लेकिन वहां तू-तू, मैं-मैं के बीच आपके मुद्दे दब जाते हैं और आपके हक की आवाज़ गुम हो जाती है। इसलिए टक्कर में उन चेहरों से सीधे सवाल किए जाते हैं जिनकी आपके प्रति सीधी जवाबदेही बनती है। टक्कर महज एक शो नहीं है ये 130 करोड़ भारतीयों की एक बड़ी मुहिम है।


टक्कर में आज बात हो रही है पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम की गिरफ्तारी की और उसपर गरमाई राजनीति की। आईएनएक्स मीडिया मामले में शुक्रवार को सीबीआई और कार्ति के वकीलों के बीच लंबी बहस चली जिसके बाद कोर्ट ने कार्ति को 5 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया। कार्ति चिदंबरम को 6 मार्च तक सीबीआई की कस्टडी में रहना होगा।


कार्ति चिदंबरम के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने पटियाला हाउस कोर्ट में कहा कि पिछले 6 महीने में कोई पूछताछ नहीं की गई। कार्ति जब भी विदेश गए तय समय पर वापस लौटे। तथ्यों और साक्ष्यों के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की गई। किसी भी कंपनी का कार्ति चिदंबरम से संबंध नहीं है। कार्ति को बिना समन दिए, अरेस्ट किया गया है। सीबीआई ने बदले की भावना से कदम उठाया है। हम हर तरह से जांच को तैयार हैं। कार्ति को हिरासत में लेकर पूछताछ का कोई औचित्य नहीं हैं। सीबीआई उनपर सहयोग नहीं करने का आरोप कैसे लगा सकती है जबकि उन्हें कोई समन ही नहीं भेजा गया।


वहीं सीबीआई की दलील थी कि कार्ति को कार्डिऐक केयर यूनिट में शिफ्ट करने से उन्हें हिरासत में लेने का मुख्य उद्देश्य पूरा नहीं हो पाया। सुबह तक वो ठीक थे, उन्होनें किसी भी तरह की शिकायत नहीं की थी। कार्ति चिदंबरम और कई कंपनियों के बीच लिंक के पुख्ता सबूत हैं। सीबीआई पास ईमेल्स और कई इनवॉइस हैं जिनसे पता चलता है कि आइएनएक्स मीडिया को फायदा पहुंचाने के लिए एएससीपीएल को उस वक्त पैसे दिए गए।