Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

पीएनबी घोटालाः सीबीआई की कार्रवाई, 4 आरोपियों की पेशी

प्रकाशित Mon, 05, 2018 पर 19:10  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पीएनबी बैंक फ्रॉड मामले में आज सीबीआई ने 4 आरोपियों को स्पेशल सीबीआई कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने सभी आरोपियों को 17 मार्च तक के लिए पुलिस कस्टडी में भेज दिया। गिरफ्तार किए गए चारो आरोपी मनीष बोसामिया, मितेन पांड्या, संजय रमभिया और शिव रमन नायर हैं। चारों आरोपी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की कंपनियों में काम करते थे। चारों को फर्जी एलओयू तैयार करने के आरोप में रविवार को गिरफ्तार किया गया था। महाघोटाले में जांच की आंच आज पीएनबी के जीएम ट्रेजरी तक पहुचीं। सीबीआई ने आज बैंक के जीएम ट्रेजरी एस. के चंद से पूछताछ की है।


बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने आज एनपीए और बैंक फ्रॉड के मुद्दे पर कांग्रेस को घेरा। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस ने बैंकों के रिकॉर्ड में सही चीज़ें नहीं आने दीं, जिससे एनपीए बढ़ता गया।


वहीं कांग्रेस पर हमले के बाद बारी थी पी चिदंबरम की। रविशंकर प्रसाद ने यूपीए शासन में लाई गई गोल्ड स्कीम 80:20 को लेकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि इस स्कीम का मेहुल चौकसी और नीरव मोदी ने गलत तरीके से फायदा उठाया और इसको लेकर पी चिदंबरम की भूमिका की जांच होनी चाहिए। इधर रविशंकर प्रसाद के सवालों का जवाब देने के लिए गुलाम नबी आजाद सामने आए। विदेश भागे घोटालेबाजों के बहाने पीएम मोदी के विदेश दौरों पर निशाना साधा।


बता दें कि 80:20 गोल्ड स्कीम की योजना चालू खाता में घाटे को कम करने के लिए के लिए लाई गई थी। इसके तहत सोने के इंपोर्ट की इजाजत उसी को मिलती थी जो मंगाए गए सोने का कम से कम 20 फीसदी गोल्ड को ज्वेलरी बनाकर निर्यात करता था। आरोप है कि पी चिदंबरम के वित्त मंत्री रहते हुए मेहुल चौकसी ने इस स्कीम का गलत फायदा उठाया। इसलिए सूत्रों के हवाले से खबर है कि इससे जुड़ी सभी फाइलों का जांच एजेसिंयां पड़ताल करेगी।