Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

लागत में कटौती से हुआ फायदा: एनआईआईटी

प्रकाशित Tue, 06, 2018 पर 14:11  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में एनआईआईटी का मुनाफा 4.5 गुना बढ़कर 19.7 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में एनआईआईटी का मुनाफा 4.4 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में एनआईआईटी की आय 4 फीसदी बढ़कर 209.4 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में एनआईआईटी की आय 202 करोड़ रुपये रही थी।


साल दर साल आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में एनआईआईटी का एबिटडा 10.9 करोड़ रुपये से बढ़कर 18.4 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में एनआईआईटी का एबिटडा मार्जिन 5.4 फीसदी से बढ़कर 8.8 फीसदी रहा है।


पिछले एक साल में कंपनी का शेयर 30 फीसदी उछला है। दिसंबर तक कंपनी का कर्ज घटकर 41.9 करोड़ करोड़ रुपये हो गया है। कंपनी की कॉरपोरेट और स्कूल लर्निंग आय में अच्छी बढ़त देखने को मिली है।


एनआईआईटी के सीईओ सपनेश लाला ने सीएनबीसी-आवाज़ से बात करते हुए कहा कि तीसरी तिमाही में कंपनी के नतीजों पर करेंसी में होने वाले उतार-चढ़ाव का असर पड़ा है। आगे भी कंपनी के प्रदर्शन पर इसका असर देखने को मिलेगा। तीसरी तिमाही में लागत में कमी और वॉल्यूम में हुई बढ़त की वजह से मार्जिंन में बढ़ोतरी देखने को मिली है।