Moneycontrol » समाचार » राजनीति

त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति पर चला बुल्डोजर!

प्रकाशित Tue, 06, 2018 पर 16:30  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

त्रिपुरा में बीजेपी की एतिहासिक जीत के जश्न के बीच विवाद खड़ा हो गया है। दक्षिण त्रिपुरा के बेलोनिया में बीजेपी समर्थकों ने कम्युनिस्ट विचारक और रुसी क्रांति के नायक ब्लादमिर लेनिन की मूर्ति को बुल्डोजर से गिरा दिया गया है, इसका वीडियो भी सामने आया है। जहां बुलडोजर की मदद से मूर्ति को गिराया जा रहा है। मूर्ति गिराते वक्त भारत माता की जय के नारे लगाए जा रहे थे। एसपी के मुताबिक बीजेपी कार्यकर्ताओं ने बुलडोजर ड्राइवर को शराब पिलाकर मूर्ति को गिरवाया। ड्राइवर को गिरफ्तार किया जा चुका है और उसके बुलडोजर को सीज कर दिया गया है।


इस पर सीपीएम का आरोप है कि बीजेपी और आईपीएफटी के कार्यकर्ता हिंसा कर रहे हैं। सीपीएम का कहना है कि बीजेपी और आईपीएफटी कार्यकर्ता न सिर्फ वामपंथी पार्टी के दफ्तरों को निशाना बना रहे हैं बल्कि उनके कार्यकर्ताओं पर भी हमले किए जा रहे हैं। कई इलाकों में धारा 144 लगा दी गई है।


व्लादिमिर लेनिन की मूर्ति गिराए जाने के बाद सीताराम येचुरी ने हिंसा को आरएसएस का असली चेहरा बताया। देशभर में बीजेपी और आरएसएस के खिलाफ प्रदर्शन करने की बात कही। उधर कांग्रेस ने भी व्लादिमिर लेनिन की मूर्ति गिराए जाने का विरोध किया। मल्लिकार्जुन खड़गे ने इसे बर्दाश्त न करने वाला कदम बताया।


उधर बीजेपी के महासचिव राम माधव ने इस मामले पर ट्वीट करते हुए लिखा कि लोग लेनिन की मूर्ति गिराए जाने की चर्चा कर रहे हैं, रूस नहीं ये त्रिपुरा है, चलो पलटाई। राम माधव के ट्वीट से साफ है कि लेनिन की मूर्ति गिराने पर बीजेपी की मौन सहमति है। चुनाव में चलो पलटाई त्रिपुरा में बीजेपी का नारा है और उसी नारे तर्ज पर लेनिन की मूर्ति पलट दी गई।