Moneycontrol » समाचार » राजनीति

टक्करः लेनिन की मूर्ति ढहाना, बीजेपी का बदला या बदलाव!

प्रकाशित Wed, 07, 2018 पर 09:39  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीएनबीसी-आवाज़ पर एक और डिबेट शो टक्कर शुरू हो गया है। इसमें सोमवार से शुक्रवार रात 09:00 बजे आपसे जुड़े हुए मुद्दे उठाए जाते हैं और सरकार से पूछे जाते हैं तीखे सवाल। टीवी पर बहस तो बहुत होती रहती हैं लेकिन वहां तू-तू, मैं-मैं के बीच आपके मुद्दे दब जाते हैं और आपके हक की आवाज़ गुम हो जाती है। इसलिए टक्कर में उन चेहरों से सीधे सवाल किए जाते हैं जिनकी आपके प्रति सीधी जवाबदेही बनती है। टक्कर महज एक शो नहीं है ये 130 करोड़ भारतीयों की एक बड़ी मुहिम है।


टक्कर में आज बात हो रही है त्रिपुरा में बीजेपी की एतिहासिक जीत के जश्न के बीच विवाद खड़ा हो गया है। दक्षिण त्रिपुरा के बेलोनिया में बीजेपी समर्थकों ने कम्युनिस्ट विचारक और रुसी क्रांति के नायक ब्लादमिर लेनिन की मूर्ति को बुल्डोजर से गिरा दिया गया है, इसका वीडियो भी सामने आया है। जहां बुलडोजर की मदद से मूर्ति को गिराया जा रहा है। मूर्ति गिराते वक्त भारत माता की जय के नारे लगाए जा रहे थे। एसपी के मुताबिक बीजेपी कार्यकर्ताओं ने बुलडोजर ड्राइवर को शराब पिलाकर मूर्ति को गिरवाया। ड्राइवर को गिरफ्तार किया जा चुका है और उसके बुलडोजर को सीज कर दिया गया है।


इस पर सीपीएम का आरोप है कि बीजेपी और आईपीएफटी के कार्यकर्ता हिंसा कर रहे हैं। सीपीएम का कहना है कि बीजेपी और आईपीएफटी कार्यकर्ता न सिर्फ वामपंथी पार्टी के दफ्तरों को निशाना बना रहे हैं बल्कि उनके कार्यकर्ताओं पर भी हमले किए जा रहे हैं। कई इलाकों में धारा 144 लगा दी गई है।


व्लादिमिर लेनिन की मूर्ति गिराए जाने के बाद सीताराम येचुरी ने हिंसा को आरएसएस का असली चेहरा बताया। देशभर में बीजेपी और आरएसएस के खिलाफ प्रदर्शन करने की बात कही। उधर कांग्रेस ने भी व्लादिमिर लेनिन की मूर्ति गिराए जाने का विरोध किया। मल्लिकार्जुन खड़गे ने इसे बर्दाश्त न करने वाला कदम बताया।


अब सवाल खड़े हो रहे है कि क्या त्रिपुरा में बीजेपी इसी बदलाव की बात कर रही थी। जिस लेनिन वाद को पुरी दुनिया अपने यहां से हटाने में लगी है उसपर हिंदुस्तान में आखिर इतना बवाल क्यों मचाया जा रहा है।