Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

टेक गुरुः मोटो Z2 फोर्स में कितना दम

प्रकाशित Fri, 09, 2018 पर 18:57  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अगर ये झटके फोन की सेफ्टी के विल्लन हैं, तो ऐसे में मोटो z2 फोर्स किसी सूपर हीरो की तरह है। इस सूपर हीरो का सूपर पावर है शैटरशील्ड। मोटो z2 फोर्स शैटरशील्ड डिस्प्ले से लैस है। 5 लेयर वाली प्रोटेक्शन के साथ आने वाला ये डिस्प्ले 4-5 फीट की उंचाई से गिरने पर भी बिंदास काम करता है।


मोटोरोला को इस फीचर पर इतना भरोसा है कि फोन पर 4 साल की गैरेंटी भी दी है। फोन को उंचाई से गिरने पर टूटता तो नहीं हैं हालांकि स्क्रैचेस जरूर आते हैं, लेकिन इससे फोन की परफॉर्मेंस पर कोई फर्क नहीं पड़ता। मोटो z2 फोर्स में 5.5 इंच की सूपर एमोलेड स्क्रीन पर 2के रेजॉल्यूशन मिलता है। ये डिस्प्ले शानदार है और इस पर वीडियो देखने में काफी मजा आता है। फोन के कलर काफी शार्प हैं, लेकिन चाहें तो इसके सैचुरेशन लेवेल को बदल भी सकते हैं।


फोन का टच भी काफी स्मूद है। मोटो Z2 फोर्स का डिसाइन भले ही मोटोरोला के दूसरे फोन जैसा हो लेकिन ये फोन काफी स्लीक और लाइट- वेट है। फोन की बैक पर मैट फिनिश तो नहीं है, लेकिन फिर भी फोन आसानी से हाथ से फिसलता नहीं है। मोटो z2 फोर्स का कैमरा बंप कभी - कभी परेशान जरूर करता है।


फोर्स औऱ ड्यूरेबेलिटी के मामले में तो फोन को फुल मार्क्स मिलते हैं। इसमें कोई शक नहीं है कि ये फोन आराम से कई सारे शॉक्स और ड्रॉप्स को सह लेगा।  लुक भी ओवरऑल ठीक है लेकिन एक बात जो मुझे पसंद नहीं आई, वो है इससे बेजेल। जहां, बजट सेगमेंट से लेकर हाइ एंड फोन, सबमें फुल विजन, बेजेल लेस डिस्पेल मिल रहा है। वहीं मोटो z2 फोर्स का बड़े बेजेल वाला ये डिजाइन काफी आउटडेटेड लगता है। इसकी वजह से फोन फर्स्ट लुक में कम अपीलिंग लगता है।


लुक्स में भले ही मोटोरोला ने ज्यादा मेहनत न की हो, लेकिन  फोन के हार्डवेयर पर खास ध्यान दिया है। मोटो Z2 फोर्स 6जीबी रैम और 64 जीबी स्टोरेज से लैस है। इसका साथ देता है दमदार प्रोसेसर ऑक्टाकोर स्नैपड्रैगन 835 कई सारे विंडोज एक साथ खुले होने पर भी ऐप खोलने या स्विच करने में वक्त नहीं लगता। ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए भी एंड्रॉयड 8.0 ओरियो दिया गया है।


मोटोरोला का ऑल्मोस्ट स्टॉक एंड्रॉएड इंटरफेस फोन पर काम करना और आसान बना देता है। बाकी मोटोरोला फोन्स की तरह z2 फोर्स भी मोटो एक्शन्स को सपोर्ट करता है। फोन को ट्विस्ट कर कैमरा इस्तेमाल कर सकते हैं तो चॉप-चॉप एक्शन कर फ्लैशलाइट ऑन हो जाती है। इसके साथ ही मोटो डिस्प्ले और मोटो वॉइस से भी कई काम बस  जेस्चर की मदद से किए जा सकते हैं।


मोटो Z2 फोर्स Z सीरीज फोन की तरह सभी मोटो मॉड्स को भी सपोर्ट करता है। गेमिंग के लिए फोन में एंड्रोन 540 है, इसलिए गेमिंग एक्सपीरियंस भी फोन पर काफी मजेदार है। मोटो z2 फोर्स स्पलैशप्रूफ है। लेकिन इस प्राइस सेगमेंट में फोन से वॉटर और डस्ट रेजिस्टेंस जैसे फीचर की उम्मीद थी। ऐसे में का कम से कम आईपी67 सर्टिफाइड न होना थोड़ा खलता है।


मोटो Z2 फोर्स अपनी परफॉर्मेंस से जो भी फोन के नेगेटिव प्वाइंट है  उन्हें पॉसिटिव में बदल देता है। रैम और प्रोसेसर का एक बढ़िया कॉम्बिनेशन है तो सारे काम, म्ल्टी विंडो से लेकर हेवी गेमिंग तक , काफी स्मूदली काम करते हैं। मिड सेगमेंट फ्लैगशिप के टाइटल को फोन की परफॉरमेंस पूरी तरह जस्टिफाई करती है।


मोटो Z2 फोर्स में कैमरा के लिए 12 मेगापिक्सल के दो लेंस दिए गए हैं, वहीं सेल्फी के लिए 5 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा है। रियर कैमरा में एक लेंस जहां स्टैंडर्ड है वहीं दूसरा लेंस मोनोक्रोम फोटो के लिए काम आता है। कैमरा में दिए ट्रू ब्लैक एंड वाइड मोड से मोनोक्रोम फोटो ली जा सकती हैं। फोन अच्छी लाइटिंग में बढ़िया फोटो लेता है और रंगों को भी काफी अच्छी तरह कैपचर करता है। फोटो में डिटेल भी साफ नजर आती हैं।


मोटो Z2 फोर्स में बैकग्राउंड को ब्लर कर बोकेह इफेक्ट देने का भी इंतजाम है। डेप्थ इनेब्लड मोड के जरिए बैकग्राउंड को ब्लर किया  जा सकता है, साथ ही इसकी इंटेन्सिटी को भी कम या ज्यादा कर सकते हैं। हालांकि ये इफेक्ट मुझे खास पसंद नहीं आया। ऐसा इसलिए क्योंकि कैमरा इस मोड में सब्जेक्ट के कॉर्नर को भी ब्लर कर देता और ठीक से फोकस नहीं कर पाता। कैमरा से आप किस चीज की फोटो ले रहे हैं या किस लोकेशन पर हैं ये भी पता कर सकते हैं। फोन ऑब्जेक्ट रिकगनिशन फीचर से फ्रेम में दिए गए सब्जेक्ट को स्कैन करता है और फिर उससे जुड़े रिजल्ट दिखाता है। ज्यादा जानकारी के लिए एक्सटरनल लिंक्स  का भी देता है।


मोटो Z2 फोर्स का सेल्फी कैमरा भी काफी इम्प्रेसिव है। फोन रोशनी में तो अच्छी फोटो लेता ही है, कम रोशनी में भी ठीक- ठीक फोटो ले लेता है। सेल्फी फ्लैश कम रोशनी में फोटो लेने में मदद करता है। फोन पर 4के वीडियो बना सकते हैं साथ ही 720 पी रेजॉल्यूशन पर 240एफपीएस स्लो मोशन वीडियो भी बना सकते हैं।


टर्बो पावर मॉड से चार्जिंग की परेशानी खत्म होती है लेकिन फोन भारी जरूर हो जाता है। हालांकि ये पावर बैंक का चार्जर लेकर घूमने से तो बहतर ही है। चार्जिंग के लिए फोन में टाइप सी पोर्ट और टर्बो चार्जर दिया गया है। फोन को फुल चार्ज होने में 1 घंटा लगता है। फोन का स्पीकर इयरपीस के नीचे ही दिया गया है। फोन की ऑडियो क्लियर तो है लेकिन बहुत ज्यादा लाउड नहीं है। मोटो Z2 फोर्स में ऑडियो जैक नहीं हैं जो कि एक डिसअपाइंटमेंट है।


इयरफोन कनेक्ट करने के लिए कनेक्टर का इस्तेमाल करना पड़ता है।होम बटन पर दिया गया फिंगरप्रिंट सेंसर काफी क्विक और रिस्पॉन्सिव है। इससे फोन को लॉक और अनलॉक, दोनों काम के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। कनेक्टिविटी के लिए फोन में डुअल सिम, 4G, वोल्टा सपोर्ट, ब्लूटूथ और वाइ- फाइ है। मोटो Z2 फोर्स को खरीदने के लिए 34,998 रुपये खर्चने होंगे


मोटो Z2 फोर्स एक फुल पैकेज है। फोन की परफॉर्मेंस, कैमरा ,डिस्प्ले सभी फोन के फेवर में जाते हैं। फुल स्क्रीन डिसप्ले और शटर लैग के इग्नोर करें तो फोन ओवरऑल काफी बढ़िया है और रिलायबल है।