Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

नौकरी देने के नाम पर फर्जीवाडा, पहरेदार से की शिकायत

प्रकाशित Sat, 10, 2018 पर 16:53  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीएनबीसी-आवाज़ पर आने वाला टीवी का सबसे बड़ा कंज्यूमर शो पहरेदार ग्राहक की आवाज़ बुलंद करता है और लड़ता है ग्राहक के हक की लड़ाई। जब कंपनियों की मनमानी के सामने कंज्यूमर झुकने लगता है, तब उनके हक की आवाज़ लेकर पहरेदार करता है कंपनी से सवाल और कंपनी को देना होता है जवाब।


पहरेदार के जरिए उन लोगों को इंसाफ मिल पाता है जो कंपनियों के अड़ियल रवैये के चलते उन जरूरी सर्विसेज से महरूम रह जाते हैं जो उनका हक है। पहरेदार उन कंपनियों को भी सबक सिखाता है जो वादे तो कर देती हैं लेकिन उन्हें पूरे करने में आनाकानी करती हैं।


लिबर मिनिस्ट्ररी के ताजा आकंड़े बताते है कि हप साल 10 लाख युवा नौकरी की तलाश में अपनी किस्मत आजमाते है यानि रोज 30 हजार लोग नौकरी ढूंढ़ते है जिनमें से सिर्फ 500 लोगों को ही नौकरी मिल पाती है। जिसके चलते कई युवा बेरोजगार रह जाते है और इसी हताशा और जरुरत का फायदा उठाते है ऐसे ठग जो नौकरी दिलाने का दावां करती है। ऑनलाइन जॉब पोर्टल एक ऐसा जरिया है जहां आप कई सारी कंपनियों में नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते है और अपने एप्लीकेशन को ट्रेक भी कर सकते है। साल दर साल ऑनलाइन नौकरी दिलाने वाले पोर्टल पर रजिस्टेंशन करने वाली की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है, लेकिन इसका फायदा कुछ फर्जीवाड़ा लोग उठा रहे है। 


हर लोगों की तरह ही नौकरी की तलाश में संदीप सलोखे ने भी ऑनलाइन पोर्टल पर अप्लाई किया था, लेकिन संदीप को अभी तक न कोई कॉल आया और न कोई ई-मेल आया है। संदीप के साथ एक टेलिफोनिक इंटरव्यू हुआ जो आंधे घंटे तक चला था। टेलिफोनिक इंटरव्यू के दूसरे दिन कन्फर्मेशन लेटर दे दिया गया। सुधारकन नाम के शख्स ने खुद को जीएमआर ग्रुप का एचआर मैनेजर बता के नौकरी के लिए इंटरव्यू लिया था और संदीप को आश्वासन दिया गया कि मुंबई में नौकरी मिलेगी। डॉक्यूमेंट और अनुभव से संबंधित भी कई तरह के सवाल संदीप से पूछे गए थे।


संदीप ने आगे बताया कि 75000 रुपये प्रति महीना सैलरी के साथ सुविधाएं देने का दावा किया गया था। मेडिकल और डॉक्यूमेंट के नाम पर पैसे मांगे और नौकरी के लिए 70,000 रुपये की रिश्वत की भी मांग रखी।


साइन डॉटकॉम के सीईओ जायरस मास्टर का कहना है कि काफी कैंडिडेट के पास ऐसे फर्जी कॉल आते है। नौकरी के नाम पर पैसे भी मांगे जाते हैं। थोड़ी सावधानी से ठगी से बचे सकते है और कोई भी बड़ी कंपनी नौकरी के बदले पैसे नहीं मांगती। ये जानना जरुरी कि पैसे किस अकाउंट में ट्रांसफर हो रही हैं। ई-मेल आईडी और एड्रेस को अच्छे से जांच लें। कोई कंपनी किसी भी व्यक्तिगत आईडी से मेल नहीं करती। नौकरी के लालच में पैसे बिल्कुल भी न दें।