Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

रिटेल महंगाई दर घटी, फरवरी में घटकर 4.4%

प्रकाशित Mon, 12, 2018 पर 17:35  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

महंगाई के मोर्चे पर सरकार को थोड़ी राहत मिली है। फरवरी में रिटेल महंगाई दर यानि सीपीआई घटकर 4.4 फीसदी पर रही है जो चार महीने का निचला स्तर है। वहीं, जनवरी में रिटेल महंगाई दर 5.07 फीसदी रही थी।


फरवरी में खाने-पीने की चीजों की महंगाई घटी है। महीने दर महीने आधार पर फरवरी में खाद्य महंगाई दर 4.70 फीसदी से घटकर 3.26 फीसदी रही है। महीने दर महीने आधार पर फरवरी में फ्यूल, बिजली की महंगाई दर 7.7 फीसदी पर बरकरार रही है।


महीने दर महीने आधार पर फरवरी में अनाजों की महंगाई दर 2.33 फीसदी से गिरकर 2.10 फीसदी रही है। वहीं, फरवरी में सब्जियों की महंगाई दर 26.97 फीसदी से घटकर 17.57 फीसदी पर रही है।


महीने दर महीने आधार पर फरवरी में कपड़ों और जूतों की महंगाई दर 4.9 फीसदी से बढ़कर 5 फीसदी रही है। वहीं, महीने दर महीने आधार पर जनवरी में कोर महंगाई दर 5.1 फीसदी पर बरकरार रही है जबकि महीने दर महीने आधार पर फरवरी में शहरी इलाकों की महंगाई दर 4.93 फीसदी से घटकर 4.52 फीसदी रही है।


केयर रेटिंग के चीफ इकोनॉमिस्ट मदन सबनवीस का कहना है कि महंगाई में भले ही गिरावट दिखी हो लेकिन आगे महंगाई बढ़ने का खतरा बरकरार है और आगे चलकर आरबीई ब्याज दरें बढ़ा सकता है।


मार्केट एक्सपर्ट अजय बग्गा का कहना है कि इकोनॉमी में रिवाइवल के संकेत मिलने लगे है। ग्रोथ पटरी पर लौट रही है। इकोनॉमी के लिए ये साल अच्छा रहेगा। उन्होंने कहा कि मार्केट भी इन आंकड़ों से खुश होगा। ऑटो सेल, इलेक्ट्रिक ग्रोथ से अच्छे संकेत मिल रहे हैं। कॉरपोरेट आय में भी सुधार दिख रहा है। महंगाई कम रहने से जीडीपी ग्रोथ को सहारा मिलेगा।