Moneycontrol » समाचार » प्रॉपर्टी

इंडिया रियल एस्टेटः दक्षिण भारत पर फोकस

प्रकाशित Tue, 13, 2018 पर 14:12  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

इंडिया रियल एस्टेट गाइड में इस बार दक्षिण भारत पर फोकस किया जा रहा है। सीएनबीसी-आवाज़ के साथ खास चर्चा में जानकारों ने कहा कि दक्षिण भारत का रियल एस्टेट काफी अलग है। दक्षिण भारत में उन्नत दर्जे का रियल एस्टेट है। दक्षिण भारत के टियर-2 शहरों का प्रॉपर्टी मार्केट संतुलित है, जबकि महानगरों के रियल एस्टेट में उतार-चढ़ाव देखने को मिला है। हालांकि रियल एस्टेट में आए बदलाव का दक्षिण भारत में कम असर दिखा है।


जानकारों के मुताबिक दक्षिण भारत में आईटी कंपनियों का रियल एस्टेट को अच्छा सपोर्ट है। कमर्शियल सेगमेंट में अच्छी मांग है। दक्षिण भारत में कमर्शियल और रेजिडेंशियल का अनुपात शानदार है। दरअसल रियल एस्टेट का बाजार रोजगार से तय होता है, ऐसे में सर्विस सेक्टर में ग्रोथ के साथ प्रॉपर्टी मार्केट भी आगे बढ़ता है। बीते 5 साल में उम्मीद से कम ग्रोथ रही है। लिहाजा पिछले 5 साल में प्रॉपर्टी के भाव स्थिर रहे हैं। हालांकि अब प्रॉपर्टी के भाव गिरने की गुंजाइश नहीं है।


जानकारों का कहना है कि दक्षिण भारत के प्रॉपर्टी बाजार में 50-70 लाख रुपये के घरों की मांग ज्यादा है, ऐसे में अफोर्डेबल सेगमेंट की अनदेखी हो रही है। कम इनकम वाले नजरअंदाज हो रहे हैं। महंगी जमीन से घरों की कीमत ज्यादा है, ऐसे में सरकार को सस्ती कीमत पर जमीन देने की पहल करनी चाहिए।