Moneycontrol » समाचार » निवेश

निवेश के लिए लक्ष्य जरूरी

निवेश लंबे समय के लिए किया जाए या फिर कम, निर्भर करता है आपके लक्ष्य पर।
अपडेटेड Dec 21, 2010 पर 13:01  |  स्रोत : Hindi.in.com

moneycontrol.com


ज्यादातर निवेशकों के सामने अपने निवेश की अवधि तय करना मुश्किल हो जाता है। निवेश लंबे समय के लिए किया जाए या फिर कम, निर्भर करता है आपके लक्ष्य पर।

जरूरी है कि निवेशक तय कर ले कि निवेश किस लक्ष्य के लिए किया जा रहा है। लक्ष्य के मुताबिक ही निवेश की अवधि तय की जा सकती है।

चाहे दो निवेशकों के लक्ष्य एक जैसे हों, लेकिन निवेश की अवधि अलग-अलग हो सकती है। आय, बचत और खर्चे अलग होने से निवेशकों के लिए जरूरी है कि वो अपनी सुविधा और क्षमता के आधार पर निवेश की अवधि तय करें।

वैसे ही लंबी और छोटी अवधि की समयसीमा भी हर निवेशक के लिए अलग-अलग होती है। किसी के लिए 5 साल छोटी अवधि हो सकती है, तो वहीं दूसरे निवेशक के लिए 5 साल लंबी अवधि होगी।

बिना किसी लक्ष्य के निवेश करना खतरनाक हो सकता है। लक्ष्य न होने पर निवेश की रकम और अवधि तय करना मुश्किल होता है। निवेश के पहले तय कर लें कि आगे चल कर आपको पैसों की किसलिए जरूरत होगी। क्या आप घर खरीदने के लिए पैसा इकट्ठा कर रहे हैं, या फिर अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए।

अगर आपके सामने कई लक्ष्य हैं, तो सबसे महत्वपूर्ण वजह को अपने निवेश का लक्ष्य बनाएं। लक्ष्य के मुताबिक ही आप तय कर पाएंगे कि कितना पैसा निवेश करना है, कितने समय के लिए निवेश करना है और कितना जोखिम आप उठा सकते हैं। ऐसा करने पर आप निवेश करके अपने सपनों को पूरा कर सकते हैं।


 


इस लेख के लेखक सुमित वैद्य हैं, जो फ्रीडम फाइनेंशियल प्लैनर्स के सीईओ हैं।