रियल एस्टेट गाइड: कैसा है ठाणे का रोडस एनक्लेव प्रोजेक्ट -
Moneycontrol » समाचार » प्रॉपर्टी

रियल एस्टेट गाइड: कैसा है ठाणे का रोडस एनक्लेव प्रोजेक्ट

प्रकाशित Sat, 12, 2018 पर 18:35  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

ठाणे पश्चिम महाराष्ट्र का तेजी से उभरता शहर है। मुंबई से लगे होने की वजह से इस शहर का डेवलपमेंट काफी तेज रफ्तार से हुआ है। ठाणे में सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर यानि रोड, हॉपिटल्स, स्कूल्स और मॉल्स की कोई कमी नहीं है। कनेक्टिविटी के लिहाज से भी ठाणे काफी शानदार है। ठाणे ईस्टर्न एक्सप्रेस वे के जरिेए मुलुंड, दादर और वर्ली जैसे इलाकों से कनेक्ट है तो वहीं कल्याण और नवी मुंबई के लिए भी काफी अच्छा रोड नेटवर्क है। इन्हीं सब इलाकों तक जाने के लिए यहां मुंबई लोकल ट्रेन की सेंट्रल और हर्बर लाइन भी है जो रोजाना लाखों लोगों के सफर का जरिया है। मुंबई का इंटरनेशनल एयरपोर्ट यहां से करीब 28 किलोमीटर पर है तो वहीं नवी मुंबई में प्रपोस्ड एयरपोर्ट की दूरी भी तकरीबन इतनी ही है। ये वजहें काफी हैं यहां छोटे से बड़े रियल एस्टेट सेक्टर के कारोबारियों का ध्यान खीचने के लिए।


महाराष्ट्र के रियल एस्टेट मार्केट में हीरानंदानी ग्रुप सबसे पुराने नामों में से एक हैं। 1978 में शुरु हुए हीरानंदानी ग्रुप ने 1987 से रियल एस्टेट सेक्टर में कदम रखा जो आज एक बड़े ब्रांड नेम के तौर पर स्टैब्लिश है। कंपनी की शानदार इमेज, वर्किंग स्टाइल, के चलते हीरानंदानी ग्रुप को देशभर के बिल्डरों का सम्मान हासिल है। अपने बेहतर काम के चलते कंपनी ने लगातार नए बेंचमार्क सेट किए। हीरानंदानी को खास पहचान मिली पवई में यूरोपिन आर्किटेक्चर पर बनी टाउनशिप हीरानंदानी गार्डन से। इसके अलावा कंपनी ने ठाणे और नवी मुंबई में भी टाउनशिप प्रोजेक्ट बनाए हैं। महाराष्ट्र के अलावा  कंपनी ने चेन्नई और दुबई तक अपनी पहुंच कायम की है। हीरानंदानी ग्रुप का खास ध्यान हाइ क्वालिटी और कंज्यूमर सेटिस्फेक्शन पर रहता है। जिसकी वजह से आज कंपनी ग्राहकों की पसंदीदा रियल एस्टेट कंपनी बन चुकी है।


रोडस एनक्लेव एक हायर सेगमेंट प्रोजेक्ट है जो हीरानंदानी ग्रुप की अत्याधुनिक टाउनशिप हीरानंदानी स्टेट का हिस्सा है। रोडस एनक्लेव में डेढ़ दर्जन टॉवर्स हैं, इन टॉवर्स को लोकेशन के हिसाब से 18 से 28 मंजिल तक डिजाइन किया गया है जिनमें 2 बीएचके से लेकर 5 बीएचके के 1449 घर प्लान किए गए हैं। यहां 765 वर्गफुट से लेकर 3668 वर्गफुट कारपेट एरिया के साइज में घरों की प्लानिंग की गई है। यहां हर टॉवर में बेसिक एमिनिटीज दी गई हैं इसके अलावा काफी बड़ा क्लब हाउस भी बनाया गया है। जहां मॉर्डन जिम्नेजियम, योगा रूम, पूल एंड बिलियर्ड्स समेत काफी बड़ां बैंक्वेट हॉल भी है, इसके साथ ही बिग साइज आउटडोर स्वीमिंग पूल भी बनाया गया है। रोडस को और भी खास बनाता है हीरानंदानी स्टेट का सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर। वॉक टू वर्क कॉन्सेप्ट पर डिजाइन के चलते यहां ढेरों मल्टीनेशनल ब्रांड के स्टोर कॉर्पोरेट ऑफिसेज मॉर्डन स्कूल और हॉस्पिटल बनाए गए हैं। इन्हीं वजह से हीरानंदानी स्टेट अपने आप में किसी स्मार्ट शहर से कम नहीं है।