Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

तीन खदानों के विस्तार की योजना: हिंदुस्तान कॉपर

प्रकाशित Thu, 07, 2018 पर 14:05  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नो योर कंपनी में आज फोकस है सरकारी क्षेत्र की कंपनी हिंदुस्तान कॉपर पर। हिंदुस्तान कॉपर सरकारी मिनी रत्न कंपनी है जो कॉपर माइनिंग, स्मेल्टिंग, रिफाइनिंग कारोबार में है। कंपनी के पास देश का दो-तिहाई कॉपर रिजर्व है। हिंदुस्तान कॉपर के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर संतोष शर्मा ने सीएनबीसी-आवाज़ से बात करते हुए बताया की कंपनी की क्षमता 34 लाख टन से बढ़ाकर 1.22 करोड़ टन करने का लक्ष्य है।


उन्होंने आगे कहा कि वित्तीय वर्ष 2019 में 2000 करोड़ रुपये आय का लक्ष्य है। वेदांता के तूतीकोरिन प्लांट के बंद होने से हिंदुस्तान कॉपर को फायदा होगा। कंपनी की 3 खदानों के विस्तार की योजना है। इसके ही कंपनी 2 खदानों को फिर से शुरू करेगी।


संतोष शर्मा ने कहा कि वेदांता के तूतीकोरिन प्लांट के बंद होने से देश में 1.5 लाख टन कॉपर की कमी होगी। जिसकी भारपाई देश की दूसरी कंपनियां करेंगी जिसमें हिंदुस्तान कॉपर शामिल है। कंपनी कॉपर की पूरी वैल्यू चेन में शामिल है। चालू साल में कंपनी की 2 नई खदान खुली हैं। डिमांड सप्लाई में अंतर आने की वजह से कॉपर की कीमतों में तेजी देखने को मिलेगी जिसका फायदा कंपनी को मिलेगा।