कंपनियों ने शुरू किया ऑनलाइन-ऑफलाइन का खेल -
Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

कंपनियों ने शुरू किया ऑनलाइन-ऑफलाइन का खेल

प्रकाशित Fri, 08, 2018 पर 17:00  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बढ़ते कॉम्पटिशन को देखते हुए अब कंपनियां ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनो ही प्लैटफॉर्म पर अपनी मौजूदगी बढ़ा रही है। इससे ग्राहकों को भी ज्यादा ऑप्शन मिलेंगे साथ ही कंपनियों की ग्राहकों तक पहुंच भी बढ़ेगी।


ग्राहकों तक अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए कंपनियां नए नए तरीके अपनाती रहती हैं। इनमें से सबसे नया तरीका है O2O स्ट्रैटेजी, यानि ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही प्लैटफॉर्म पर मौजूद रहना। हाल में बिग बाजार चलाने वाले फ्यूचर ग्रुप ने अपने ईजी डे स्टोर ग्राहकों के लिए ऐप लॉन्च किया है। जिससे ग्राहक घर बैठे शॉपिंग कर सकते हैं। तो दूसरी तरफ ग्राहकों को लंबी लाइनों की झंझट से बचाने के लिए फ्यूचर ग्रुप ने कैशलेस स्टोर की शुरूआत भी की। जानकारों का मानना है कि कॉम्पटिशन में बने रहने के लिए कंपनियों को ग्राहकों तक पहुंचने की हर मुंकिन कोशिश करनी होगी।


ऑनलाइन रीटेलर्स भी ऑफलाइन स्टोर्स के जरिए अपनी पहुंच ग्राहकों तक बढ़ाने पर काम कर रहे हैं। सिर्फ फ्लैशसेल के जरिए अपने मोबाइल बेचने वाली शाओमी ने हाल में कई शहरों में अपने स्टोर्स खोले हैं तो ऑनलाइन चश्मे बेचने वाली कंपनी लैंसकार्ट ने भी अपनी दुकाने शुरु की हैं। पिछले 3-4 साल में अमेजॉन इंडिया, फ्लिपकार्ट, पेटीएम मॉल भी O2O स्ट्रैटेजी पर काम कर रहे हैं।


पेटीएम मॉल ने फैशन ब्रांड रेड टेप और टेक कंपनी एसुस के साथ हाथ मिलाया है। जहां ग्राहक दोनो ही ब्रांड का सामान पेटीएम मॉल पर खरीद सकते हैं। वहीं, दोनो कंपनियों के स्टोर में जाकर पेटीएम मॉल के ऐप के जरिए पेमेंट कर सकते हैं और कैशबैक भी ले सकते हैं। वहीं, अमेजॉन इंडिया ने पिछले सितंबर में फैशन स्टोर शॉपर्स स्टॉप में 5 फीसदी इक्विटी खरीदा थी तो इस साल दुनिया की सबसे बड़ी रिटेलर वॉलमार्ट ने भारत के सबसे बड़े ऑनलाइन रिटेलर फ्लिपकार्ट में 77 फीसदी हिस्सा खरीदा है।  कुल मिलाकर अब कंपनियां ग्राहकों तक पहुंचने के लिए खुद को किसी सीमा में रखना नहीं चाहती।