Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

खाने-पीने के सामान का होगा ऑडिट

प्रकाशित Sat, 09, 2018 पर 15:16  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सरकार जल्दी खराब होने वाली या जरूरी इस्तेमाल में आने वाली खाने पीने के सामान से जुड़ी कंपनियों पर सख्त होने जा रही है। ऐसी कंपनियों को किसी मान्यता प्राप्त एजेंसी से अपने खाने पीने का ऑडिट कराने को कहा गया है।


दूध, अंडे, मीट जेसे वही सभी चीजें जो जल्दी खराब हो जाती हैं और जिनके रख रखाव में ज्यादा सावधानी की जरूरत है। फूड रेगुलेटर एफएसएसएआई ने इन चीजों से जुड़ी कंपनियों के लिए थर्ड पार्टी ऑडिट जरूरी कर दिया है। इसमें पोल्ट्री फार्म चलाने वाले और मीट सप्लायर्स भी शामिल होंगे। रेलवे में खाने पीने का सामान सप्लाई करने वाले वेंडर को भी अपनी जांच करानी होगी। साथ ही स्कूल, कॉलेज और सरकारी कैंटीन की भी जांच की जाएगी।


दरअसल एफएसएसएआई ने यह कदम कई सारी शिकायतें मिलने के बाद उठाया है। उम्मीद है कि जो जरूरी खानपान से जुड़ी कंपनिया इसके बाद ज्यादा साफ सफाई और खाद्य सुरक्षा को लेकर ज्यादा सतर्क होंगी।


वी ओ 2 यह जांच एफएसएसएआई से मान्यता प्राप्त ऐजेंसी करेंगी जिसकी लिस्ट पहले ही जारी कर दी गई है। इस जांच में खाने की क्वालिटी, साफ सफाई, रख-रखाव और पैकेजिंग के तरीको की जांच की जाएगी।
 
अगले कुछ दिनों में एफएसएसएआई इसे लेकर नोटिफिकेशन ले आएगा। फिलहाल खाने पीने की थर्ड पार्टी ऑडित सिर्फ वैक्लपिक है लेकिन नियम के अभाव में हर कंपनी ऐसा करने से बचती है। लेकिन ज्यादा रिस्क वाली खाने पीने की चीजों के लिए ये अनिवार्य होगा और ऐसा न करने पर लाईसेंस रिन्यू नहीं होगा।