Moneycontrol » समाचार » बीमा

योर मनी: जानें कितना इंश्योरेंस लेना है जरुरी

प्रकाशित Wed, 13, 2018 पर 14:04  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

योर मनी बताएंगा कि आपके लिए कितना इंश्योरेंस लेना जरुरी है। योर मनी में बताएंगा कि अपनी उम्र और आय के हिसाब से कैसे सहीं इंश्योरेंस चुनें और इसमें हमारा साथ देने के लिए मौजूद हैं एलजे बिजनेस के सीएफपी, सीईओ पुनम रुंगटा।


सवालः पत्नी और बच्चों के लिए इंश्योरेंस प्लान लिया है। यूलिप के साथ बिड़ला सन लाइफ 50 लाख रुपये टर्म प्लान, बजाज आलियांज से 9 लाख रुपये का यूलिप प्लान, बजाज आलियांज से 12 लाख रुपये का यूलिप प्लान और 50 लाख का आईसीआईसीआई टर्म प्लान लिया है। क्या और इंश्योरेंस की जरूरत है?


पुनम रुंगटाः इंश्योरेंस आपकी उम्र, आय और सेहत पर निर्भर करता है। आपके रिटायरमेंट तक कवर रहना जरूरी है। सालाना आय के 20 फीसदी तक इंश्योरेंस कवर होना चाहिए और 40 के उम्र के बीच सालाना आय के 15 फीसदी तक इंश्योरेंस कवर रखें। आपकी उम्र की हिसाब से 3करोड़ का इंश्योरेंस लें। फिलहाल आपके पास 1.21 करोड़ का इंश्योरेंस है। यूलिप पॉलिसी में इंश्योरेंस कवरेज है।इंश्योरेंस का गैप भरने के लिए टर्म इंश्योरेंस लें। इंश्योरेंस कंपनी उम्र के साथ प्रीमियम बढ़ाती है। 19 साल तक टर्म इंश्योरेंस लेने के बाद 2 करोड़ रुपये मिलेंगे।


सवालः एचडीएफसी में टर्म प्लान के लिए आवेदन किया है। फॉर्म 16A और 16B दिया है। दोनों फॉर्म में पूरी रकम में फर्क है। 16A का फॉर्म में रकम कम है। कंपनी की तरफ से गलती हुई है। क्या इससे आगे चलकर कोई दिक्कत होगी? क्या इससे मेरे नॉमिनी को कोई दिक्कत आ सकती है? साथ ही असेसमेंट ईयर में मैंने आईटीआर फाइल कर दिया था, तो क्या आईटीआर फाइल करना सही है?


पुनम रुंगटाः जांच के बाद ही इंश्योरेंस प्रपोजल को मंजूरी मिलेगी।  मंजूरी देने के बाद कंपनी क्लेम से मना नहीं कर सकती है।  आपके मामले में जीटीआई का फर्क है। हेल्थ की गलत जानकारी देने पर क्लेम में दिक्कत हो सकती है। गलत जानकारी देने पर दिक्कत आ सकती है।