Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

स्मार्ट सिटी की राह पर सबसे आगे सूरत

प्रकाशित Wed, 04, 2018 पर 08:45  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सूरत देश की सबसे पहली स्मार्ट सिटी बनने की राह पर है। गुजरात की आर्थिक राजधानी सूरत को स्मार्ट बनाने के लिए नगर निगम शहर को खूबसूरत और सुरक्षित बनाने पर खास जोर दे रही है। इसमें सबसे खास है अंडरग्राउंड कूड़ेदान और शहर का हाई-टेक कंट्रोल रूम।


एक मॉडर्न और साफसुथरे शहर का नजारा देखकर लगता है कि आप भारत से बाहर हैं लेकिन ये है भारत की डायमंड सिटी सूरत। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत चुने गए शहरों में से सूरत भी एक है लेकिन दूसरे शहरों से कहीं आगे है। चाहे यहां की सड़कें हो या फिर फिर वेस्ट मैनेजमेंट। उन्हें बेहतर बनाने के लिए यहां के नगर निगम ने कोई कसर नहीं रखी है।


सड़कों पर पैदल चलने वालों का ध्यान रखा गया है, स्मार्ट स्ट्रीट लाइट्स लगाई जा रही हैं और शहर साफ सुथरा रहे और दिखे भी इसके लिए अंडरग्राउंड कूड़े दान लगाए गए हैं। शहर में ऐसे करीब 43 कूड़ेदान लग चुके हैं और जैसे ही ये 70 फीसदी से ज्यादा भरते हैं सेंसर से इसकी सूचना कंट्रोल रूम को मिल जाती है। स्मार्टसिटी बनने के लिए सूरत ने 53 प्रोजेक्ट तय किए हैं जिनमें से 17 प्रोजेक्ट पूरे हो गए हैं। इतनी तेजी से काम करने के लिए सूरत को बेस्ट परफॉर्मिंग सिटी का खिताब भी मिला है।


साफ-साफई के साथ-साथ सूरत को सुरक्षित बनाने के लिए भी तेजी से काम हो रहा है। ट्रैफिक और क्राइम दोनों पर नजर रखने के लिए हाइ-टेक कमांड एंड कंट्रोल रूम बनाया गया है। कंट्रोल रूम को हर वक्त 146 जगहों पर लगे 614 सीटीवीवी कैमरों का इनपुट मिलता रहता है और कुछ भी इनकी सतर्क आंखों से बच नहीं सकता।


शहर में बाहर से काम करने के लिए आने वालों के लिए भी इंतजाम है। खास तौर पर जो श्रमिक यहां काम करने आते हैं उनके लिए 5 हाउसिंग प्रोजेक्ट्स पर भी काम चल रहा है जो 18 महीनों में पूरा कर लिया जाएगा।