Moneycontrol » समाचार » बीमा

योर मनीः कैसे बनें जिम्मेदार पॉलिसी होल्डर!

प्रकाशित Wed, 04, 2018 पर 12:53  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

एक जागरूक पॉलिसी होल्डर वो होता है, जिसे अपनी बीमा पॉलिसी की तमाम जानकारी तो हो ही, साथ ही अपनी पॉलिसी को लेकर खुद की जिम्मेदारियां बखूबी समझें। आईआरडीए ने ना सिर्फ इंश्योरेंस कंपनी बल्कि पॉलिसी होल्डर के लिए भी कुछ नियम और जिम्मेदारियां बनाई हैं, जिन्हें समझकर आप एक जगरूक बीमा पॉलिसी होल्डर तो बनेंगें ही बल्कि मिस सेलिंग से भी बच पाएंगे और इसपर विस्तार से बात करने के लिए हमारे साथ मौजूद हैं 5NANCE.COM की इंश्योरेंस हेड मंजू ढाके।


मंजू ढाके का कहना है कि पॉलिसी धारक की जिम्मेदारी होती है कि वह पॉलिसी खरीदते वक्त कुछ बातों का खास ध्यान दें ताकि वह पॉलिसी की मिस सेलिंग से बच सकें और अपनी पॉलिसी के फायदे और नुकसान को बखूबी समझ सकें। ऐसे में पॉलिसी धारकों को पॉलिसी फॉर्म में ठीक से जानकारी भरनी चाहिए और अपनी जरुरत के  हिसा से टर्म चुनना चाहिए। फॉर्म में नॉमिनी का नाम और डिटेल ध्यान से भरना चाहिए।


पॉलिसी लेने के बाद कंपनी से जानकारी लें। पॉलिसी नहीं मिलने पर कंपनी से संपर्क करें। पॉलिसी बॉन्ड को ठीक से पढ़ें और परखें ताकि आप मिस सेलिंग का शिकार ना बनें। पॉलिसी पढ़कर सभी जानकारी सुनिश्चित करें। 
 
पॉलिसी धारक की जिम्मेदारी है कि वह पॉलिसी को कायम रखते हुए प्रीमियम नियमित रूप से जमा करें। प्रीमियम पर किसी भी के जुर्माने से बचें। एड्रेस बदलने के लिए कंपनी से संपर्क करें और कंपनी को अर्जी देकर नॉमिनी बदलें। सही समय पर क्लेम की जानकारी दें। क्लेम के लिए कंपनी को सारी जानकारी दें।