Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

अब कढ़ाई के तेल से चलेगी गाड़ी

प्रकाशित Sat, 07, 2018 पर 14:08  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अब इस्तेमाल किए हुए खाने के तेल से भी आप अपनी कार चला सकेंगे। इससे बायोडीजल बनाने के लिए बड़ी पहल की जा रही है। फूड रेगुलेटर एफएसएसएआई ने इसके लिए बड़ी कंपनियों से बात कर रही है। अगर ये पहल कामयाब होती है तो ना सिर्फ देश का पैसा बचेगा बल्कि हमारी और आपकी सेहत भी सुधरेगी। शहरों में ट्रैफिक की किचकिच और प्रदूषण सबसे बढ़ी समस्या है। ना तो पेट्रोल डीजल के दाम काबू में आते हैं और ना प्रदूषण। ऐसे में समाधान का जो रास्ता मिल जाए उसे ही आजमाया जा रहा है। ये समाधान निकल सकता खाने के तेल से। आपको आश्चर्य होगा लेकिन सरकार अब इस तेल से गाड़ियां चलाने की योजना पर काम कर रही है।


दरअसल खाना बनाने या चीजें तलने में इस्तेमाल हुए तेल को बायोडीजल में बदलने की तैयारी हो रही है। इसके लिए फूड रेगुलेटर एफएसएसएआई ने मैक्डोनल्स, बिकानेरलावा और बागरी जैसी बड़ी कंपनियों से बात भी शुरू कर दी है। मैक्डोनल्स तो पहले से ही मुंबई में अपने इस्तमाल किए जा चुके तेल तो बायोडीजल में बदल रहा है। अब बायोडीजल एसोसिएशन ऑफ इंडिया रेस्टोरेंट्स और फूड कंपनियों से इस्तेमाल किया हुआ तेल इकट्ठा कर बायोडीजल में बदलने का काम करेंगी।


देश में हर दिन लगभग 2.3 करोड़ टन खाने का तेल इस्तेमाल होता है जिसमें 30 लाख टन को इस्तेमाल के बाद बायोडीजल के लिए लिया जा सकता है। अगर ऐसा होता है तो साल भर में क्रूड ऑयल के इंपोर्ट पर खर्च होने वाला 18000 करोड रुपया बच सकता है। अगर एफएसएसएआई की ये कोशिश सफल होती है तो इसमें हमारी सेहत का फायदा होगा। क्योंकि तलने के लिए बार-बार गर्म करने से तेल में ट्रांसफैट पैदा होता जो दिल की बीमारियों का घर है।