Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

दूसरी तिमाही में फाइनल हुई डील्स से तीसरी तिमाही में बढ़ेगा कारोबारः Wipro

जो डील पहली तिमाही में नहीँ पूरी हो पाई थी ऐसी कई डील कंपनी ने दूसरी तिमाही में पूरी की हैं।
अपडेटेड Oct 17, 2019 पर 16:28  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नो योर कंपनी में आज रडार विप्रो कंपनी है। विप्रो ने दूसरी तिमाही के लिए अपने नतीजे घोषित किये हैं। तिमाही दर तिमाही आधार पर दूसरी तिमाही में Wipro के आईटी सर्विसेस की आय 2.1 प्रतिशत बढ़कर 14656.1 करोड़ रुपये रही है जबकि पिछली तिमाही में आईटी सर्विसेस की आय 14.351.4 करोड़ रुपये रही थी।दूसरी तिमाही में कंपनी का कंसोलीडेटेड मुनाफा पिछली तिमाही के 2390 करोड़ रुपये से बढ़कर 2550 करोड़ रुपये रहा है।


तिमाही दर तिमाही आधार पर दूसरी तिमाही में Wipro के आईटी सर्विसेस का एबिट 0.1 प्रतिशत घटकर 2650.7 करोड़ रुपये रहा है जबकि पिछली तिमाही में आईटी सर्विसेस का एबिट 2652.1.4 करोड़ रुपये रहा था।


तिमाही दर तिमाही आधार पर दूसरी तिमाही में Wipro के आईटी सर्विसेस का एबिट मार्जिन 18.1 प्रतिशत रहा है जबकि पिछली तिमाही में आईटी सर्विसेस का एबिट मार्जिन 18.5 प्रतिशत रहा था।


तिमाही दर तिमाही आधार पर दूसरी तिमाही में Wipro के आईटी सर्विसेस की डॉलर में आय 0.5 प्रतिशत बढ़कर 204.89 करोड़ डॉलर रही है जबकि पिछली तिमाही में आईटी सर्विसेस की डॉलर में आय 203.88 करोड़ डॉलर रही थी।


विप्रो ने अच्छे नतीजे पेश किए हैं कंपनी के मार्जिन उम्मीद से ज्यादा रहे हैं लेकिन डॉलर आय उम्मीद से कम आई है। हालांकि, कंपनी ने Q3 के गाइडेंस में बढ़ोतरी की है। नतीजों पर सीएनबीसी-आवाज़ से बात करते हुएविप्रो के CFO जतिन दलाल ने कहा कि हर बार की तरह इस बार में 40 से 50 के बीच नये ग्राहक कंपनी से जोड़े गये। हमने देश की दिग्गज बैंक आईसीआईसीआई बैंक से एक डील की है।


जतिन ने आगे कहा कि जो डील पहली तिमाही में नहीँ पूरी हो पाई थी ऐसी कई डील कंपनी ने दूसरी तिमाही में पूरी की हैं। इन डील्स का सकारात्मक असर तीसरी तिमाही में कंपनी के कारोबार पर दिखाई देगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।