Moneycontrol » समाचार » बीमा

इंश्योरेंस से जुड़े सवाल-जवाब

प्रकाशित Sat, 28, 2011 पर 12:52  |  स्रोत : Moneycontrol.com

28 मई 2011

सीएनबीसी आवाज़



रूंगटा सिक्योरिटीज के हर्ष रुंगटा सलाह दे रहे हैं कि कौन सा इंश्योरेंस प्लान आपके लिए होगा सबसे बेहतर।


सवाल: मैं एक बैंक से होम लोन ले रहा हूं। बैंक होम लोन के साथ टर्म प्लान का विकल्प दे रहा है। बैंक से टर्म प्लान लूं या फिर खुद से ऑनलाइन टर्म प्लान लेना बेहतर रहेगा ?


हर्ष रूंगटा: खुद से इंश्योरेंस पॉलिसी लेने पर बैंक से लेने पर दोनों के प्रीमियम में अंतर हो सकता है। खुद ऑनलाइन टर्म पॉलिसी लेकर पॉलिसी बैंक को सौंपना बेहतर रहेगा। आईसीआईसीआई प्रू, कोटक लाइफ प्लान ऐसे प्लान लेना बेहतर।


सवाल: मैं ऐसी इंश्योरेंस पॉलिसी लेना चाहता हूं जिसमें मेरी बीमारियां कवर हो सकें। क्या कोई ऑनलाइन इंश्योरेंस पॉलिसी है जिसमें बीमारियों की वजह से डिसएबिलिटी पर राइडर मिलता हो ?


हर्ष रूंगटा: गंभीर बीमारियों के लिए ऑनलाइन पॉलिसी पर राइडर नहीं मिलता है। राइडर के लिए अलग से इंश्योरेंस प्लान लेना बेहतर।


सवाल: मैने बेटी की शादी के लिए एलआईसी का मैरेज और एजुकेशन एंडोमेंट प्लान लिया है। क्या नई पॉलिसी लेते समय कंपनी को पुरानी पॉलिसी की जानकारी देना जरूरी होता है।


हर्ष रूंगटा: नई पॉलिसी लेते समय कंपनी को पुरानी पॉलिसी के बारे में जरूर बताएं। इससे क्लेम मिलने में दिक्कत नहीं होगी।


सवाल: मैने एलआईसी न्यू बीमा पॉलिसी और जीवन तरंग पॉलिसी ली है। दोनों पॉलिसी का 4 तिमाही प्रीमियम भर चुका हूं। लेकिन मैं पॉलिसी सरेंडर करना चाहता हूं। क्या भरे हुए प्रीमियम का पैसा वापस मिलेगा ?


हर्ष रूंगटा: केवल 4 तिमाही प्रीमियम भरकर पॉलिसी सरेंडर करने पर पैसे वापस नहीं मिलेंगे। दोनों पॉलिसी में कम से कम 3 साल तक प्रीमियम भरें, उसके बाद पॉलिसी को सरेंडर किया जा सकता है। फिर पॉलिसी का पैसा टर्म पीरियड पूरा होने के बाद ही मिलेगा।


वीडियो देखें