Moneycontrol » समाचार » म्यूचुअल फंड खबरें

म्युचुअल फंड उद्योग को मिलेगी राहत!

सेबी ने म्युचुअल फंड में नए निवेश पर 100 रुपये की ट्रांजैक्शन फीस लेने का प्रस्ताव रखा है।
अपडेटेड Jun 07, 2011 पर 13:23  |  स्रोत : Moneycontrol.com

7 जून 2011



सीएनबीसी आवाज़



म्युचुअल फंड इंडस्ट्री की खोई चमक लौटाने के लिए सेबी म्युचुअल फंड में नए निवेश के लिए ट्रांजैक्शन फीस को मंजूरी दे सकता है।


सेबी की एक कमेटी ने प्रस्ताव दिया है कि म्युचुअल फंड में हर नए निवेश के लिए 100 रुपये की ट्रांजैक्शन फीस ली जाए, ताकि डिस्ट्रीब्यूटरों को थोड़ा फायदा हो सके। हालांकि सेबी की इस कमेटी ने फिर से एंट्री लोड लगाने की म्युचुअल फंड इंडस्ट्री की मांग ठुकरा दी है।



पहले म्युचुअल फंड कंपनियां इन्वेस्टमेंट का 2.25 फीसदी एंट्री लोड लेती थीं। एंट्री लोड हटने के बाद इक्विटी फंड की बिक्री में भारी गिरावट आई है। एंट्री लोड हटने के बाद से डिस्ट्रीब्यूटर 1 फीसदी तक का कमीशन लेते हैं।



टॉरस म्युचुअल फंड के सीईओ वकार नकवी का मानना है कि ट्रांजैक्शन फीस लगाने की बजाए सेबी को एंट्री लोड फिर से लगाने पर कोई कदम उठाना चाहिए।



वकार नकवी के मुताबिक ट्रांजैक्शन फीस के तौर पर 100 रुपये काफी कम हैं और इसका फायदा सिर्फ छोटे डिस्ट्रीब्यूटर और वित्तीय संस्थाओं को मिल सकता है।साथ ही सेबी की ओर से इस बारे में सर्कुलर जारी नहीं हुआ है। अगर सेबी ऐसा कोई कदम उठाता है तो म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री को थोड़ा फायदा जरुर मिल सकता है।



वीडियो देखें