Moneycontrol » समाचार » निवेश

जल्दी निवेश के फायदे

हम इस बात पर चर्चा करेंगे कि निवेश कम उम्र और बड़ी उम्र में शुरू करने से बचत में कितना बड़ा अंतर आ जाता है।
अपडेटेड Apr 10, 2010 पर 13:31  |  स्रोत : Hindi.in.com

इस आलेख में हम इस बात पर चर्चा करेंगे कि निवेश कम उम्र और बड़ी उम्र में शुरू करने से बचत में कितना बड़ा अंतर आ जाता है। यह मूलधन और मिश्र ब्याज के गुणक का कमाल है। हम इसे उदाहरण से समझाते हैं।

दो मित्रों की तुलना करते हैं। सोनिया और पीटर। सोनिया हर साल 750 रुपए से शुरू करती है। वह अपनी 15 साल की उम्र से निवेश शुरू करती है और 15 साल बाद बंद कर देती है।



दूसरी तरफ पीटर 5,000 रुपए हर साल का निवेश शुरू करता है। उस समय उसकी उम्र 30 साल है। वह अपनी 60 साल की उम्र तक निवेश जारी रखता है। सोनिया ने 15 साल तक निवेश किया। पीटर ने तीस साल तक निवेश किया।

अगर दोनों मिलकर टैक्स के बाद 15 फीसदी सालाना प्रतिफल कमा लेते हैं तो 60 साल की उम्र में किसके पास ज्यादा दौलत होगी?

सोनिया की 750 रुपए हर माह की बचत जो उसकी 15 से 30 साल की उम्र तक की जाती है, उसकी 60 साल की उम्र में 27.7 लाख रुपए जमा कर देगी। दूसरी तरफ पीटर की 5,000 रुपए सालाना की बचत उसकी 30 से 60 साल की उम्र के दौरान 25 लाख रुपए कर देगी।

दोनों के पास उनके निवेश के मुकाबले काफी अच्छी बचत जमा हो जाएगी। सोनिया ज्यादा रकम बचाने में सफल हो जाती है, वह भी कम वर्षों में। इसलिए निवेश कम उम्र में शुरू करना चाहिए। इस उदाहरण से पता चलता है कि कम उम्र में निवेश शुरू करने का क्या फायदा होता है।

संक्षेप में कहें तो गुणज यानी मूलधन पर मिश्र ब्याज का ही कमाल है कि जल्दी निवेश करने से रकम तेजी से बढ़ती है। जब भी हर साल आप निवेश करते हैं आपका धन आपके लिए काम कर रहा है।
`