Moneycontrol » समाचार » निवेश

बेहतर रिटर्न के लिए पीपीएफ में करें निवेश

हेमंत रुस्तगी के मुताबिक निवेशकों को सुरक्षा और फिक्स रिटर्न के लिहाज से पीपीएफ खाते में निवेश करना चाहिए।
अपडेटेड Nov 12, 2011 पर 09:18  |  स्रोत : Moneycontrol.com

12 नवंबर 2011

सीएनबीसी आवाज़



सरकार ने पीपीएफ खाते पर सालाना ब्याज 8 फीसदी से बढ़ाकर 8.6 फीसदी कर दिया है। साथ ही सरकार ने पीपीएफ खाते में सालाना निवेश की रकम 70 हजार से बढ़ाकर 1 लाख रुपये कर दिया है। वहीं पोस्ट ऑफिस बचत खाते  में ब्याज 3.5 फीसदी से बढ़ाकर 4 फीसदी कर दिया गया है।


वाइज इनवेस्टा एडवाइजर्स के सीईओ हेमंत रूस्तगी के मुताबिक छोटे निवेशकों के लिए यह एक अच्छी खबर है। छोटे निवेशक पीपीएफ खाते में पैसा लगाकर अब अचछा रिटर्न कमा सकते हैं। वहीं पोस्ट ऑफिस बचत खातों पर भी सरकार ने ब्याज दर बढ़ाया है। जिससे निवेशकों को थोड़ी राहत जरूर मिलेगी।


 


रिटर्न की गारंटी


हेमंत रूस्तगी की माने तो पीपीएफ में निवेश एक बेहद सुरक्षित निवेश है। इसमें फिक्स रिटर्न की पूरी गारंटी होती है। वहीं अब इस खाते में निवेश की सीमा सरकार ने 70 हजार से बढ़ाकर 1 लाख रुपये कर दी है। जिससे निवेशकों का इसकी ओर ऊझान बढ़ेगा।


पोर्टफोलियो में रखे पीपीएफ


निवेशकों के लिए हमेशा यह उलझन होती है कहां निवेश करें ताकि रिटर्न अच्छा मिल सके। हेमंत रुस्तगी का कहना है निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो में पीपीएफ जरूर रखना चाहिए। रिटर्न के लिहाज से यह सबसे अच्छा विकल्प है। सरकार के इस कदम से लोगों का पीपीएफ की ओर रूझान बढ़ेगा और निवेश के लिहाज से इसकी अहमियत भी बढ़ जाएगी।


शुरुआत से करें निवेश


पीपीएफ खाते में निवेश एक बेहद सरल और सुरक्षित निवेश है। निवेशकों को अपनी नौकरी की शुरुआत के साथ ही पीपीएफ में निवेश करना शुरू कर देना चाहिए। पीपीएफ खाते की सीमा 15 साल तक होती है। वहीं अब इसमें निवेश की सीमा भी बढ़ा दी गई है। ऐसे में छोटे निवेशक अपनी क्षमता के अनुसार से इसमें निवेश कर बेहतर रिटर्न कमा सकते हैं।


वीडियो देखें