Moneycontrol » समाचार » म्यूचुअल फंड खबरें

इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड के लिए गाइडलाइंस जारी

इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड ट्रस्ट या कंपनी के तौर पर शुरू किए जा सकेंगे।
अपडेटेड Nov 24, 2011 पर 15:15  |  स्रोत : Moneycontrol.com

24 नवंबर 2011

सीएनबीसी आवाज़



आरबीआई ने इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड के लिए गाइडलाइंस जारी की हैं। इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड ट्रस्ट या कंपनी के तौर पर शुरू किए जा सकेंगे।

ट्रस्ट बेस्ड इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड को म्यूचुअल फंड के तहत गिना जाएगा। कंपनी बेस्ड इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड को एनबीएफसी माना जाएगा।

इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी को आरबीआई रेगुलेट करेगा। वहीं, इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-म्यूचुअल फंड का रेगुलेशन सेबी करेगा।

इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी न्यूनतम 5 साल की अवधि के रुपये या डॉलर बॉन्ड्स जारी करके पूंजी जमा कर सकेंगे। इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी में घरेलू और विदेशी इंस्टीट्यूशनल इंवेस्टर्स निवेश कर सकते हैं।

इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस कंपनियों समेत सभी एनबीएफसी इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-म्यूचुअल फंड शुरू कर सकती हैं। हालांकि, सिर्फ इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस कंपनियां ही इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी बना पाएंगी।

इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-म्यूचुअल फंड शुरू करने के लिए एनबीएफसी के लिए नियम
-एनबीएफसी के नेट ओन्ड एसेट कम से कम 300 करोड़ रुपये के होने चाहिए और कैपिटल टू रिस्क वेटेज एसेट कम से कम 15 फीसदी होना चाहिए।
- एनबीएफसी के एनपीए 3 फीसदी से कम होने चाहिए। कंपनी कम से कम 5 साल से कारोबार कर रही हो।
- 3 साल से एनबीएफसी का मुनाफे में होना जरूरी है।
- इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-म्यूचुअल फंड शुरू करने के बाद एनबीएफसी का कैपिटल टू रिस्क वेटेज एसेट 15 फीसदी से कम नहीं होना चाहिए।
- इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-म्यूचुअल फंड शुरू करने के बाद एनबीएफसी के नेट ओन्ड एसेट में कमी न आए।
- एनबीएफसी को लेकर कोई कानूनी मामला न हो।

इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी शुरू करने के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस कंपनियों के लिए नियम
- इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस कंपनियां इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी में 49 फीसदी तक ही निवेश कर सकेंगी और कंपनियों के पास इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी का कम से कम 30 फीसदी हिस्सा होना जरूरी है।
- इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी शुरू करने के बाद इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस कंपनियों को कैपिटल टू रिस्क वेटेज एसेट और नेट ओन्ड एसेट बनाए रखने होंगे।
- फ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस कंपनी को लेकर कोई कानूनी मामला न हो।
- इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी के नेट ओन्ड एसेट कम से कम 300 करोड़ रुपये के होने चाहिए।
- इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी निवेश पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप या 1 साल से ज्यादा शुरू इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स में कर सकती हैं।
- इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी के पास कम से कम क्रिसिल की ए रेटिंग या बाकी रेटिंग एजेंसी की समान रेटिंग होनी चाहिए।
- इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी का कैपिटल टू रिस्क वेटेज एसेट 15 फीसदी से कम नहीं होना चाहिए।
- इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी का टियर 2 कैपिटल टियर 1 कैपिटल से ज्यादा नहीं होना चाहिए।
- किसी भी प्रोजेक्ट का 50 फीसदी से ज्यादा हिस्सा इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी के पास नहीं होना चाहिए। अतिरिक्त 10 फीसदी हिस्से के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर डेट फंड-एनबीएफसी को बोर्ड से और 15 फीसदी हिस्से के लिए आरबीआई से मंजूरी लेनी होगी।