Moneycontrol » समाचार » बीमा

इंश्योरेंस की उलझनों से जुड़े सवाल-जबाव

यशीष दहिया बता रहे हैं इंश्योरेंस पॉलिसी लेते समय कौन की बातों का ध्यान रखना चाहिए।
अपडेटेड Nov 26, 2011 पर 09:10  |  स्रोत : Moneycontrol.com

26 नवंबर 2011

सीएनबीसी आवाज़



पॉलिसी बाजार डॉटकॉम के उपसंस्थापक यशीष दहिया बता रहे हैं इंश्योरेंस पॉलिसी लेते समय कौन की बातों का ध्यान रखना चाहिए।


सवाल: मेरी सालाना आय 4 लाख रुपये है। मैं 1 करोड़ रुपये का टर्म प्लान लेना चाहता हूं। क्या मौजूदा आय से इतनी रकम का टर्म प्लान मिल सकता है?


यशीष दहिया: आय का 8 या 12 गुना रकम का टर्म प्लान लेना चाहिए। साथ ही यह ध्यान रखें कि कितने कवर की आवश्यकता है। आवश्यकता से अधिक कवर वाला टर्म प्लान लेने में समझदारी नहीं है। फिलहाल 50 लाख रुपये के कवर वाला टर्म प्लान लें। वहीं आय बढ़ने के साथ-साथ कवर बढ़ा सकते हैं।


सवाल: मैंने एक इंश्योरेंस पॉलिसी ली है। यदि देश से बाहर मौत हो जाए तो क्या कवर मिलता है, इसकी प्रक्रिया क्या होगी?


यशीष दहिया: प्रत्येक पॉलिसी में इस तरह की घटना में कवर मिलता है। देश से बाहर मौत होने पर भी इंश्योरेंस कंपनियां कवर देती हैं। देश से बाहर भी रहें तो पॉलिसी का प्रीमियम नियरूप से भरते रहें। वहीं स्काईडाइविंग, पैराग्लाइडिंग जैसी घटनाओं में मौत होने पर कवर नहीं मिलता है। इसके लिए पॉलिसी लेते समय इश्योरेंस कंपनी को इस विकल्प की जानकारी देनी होती है।


सवाल: मैं मथुरा का रहने वाला हूं। मुझे अविवा आई लाइफ प्लान लेना है, जो कि मथुरा में नहीं आगरा में उपलब्ध है। क्या मथुरा के पते पर आगरा से यह प्लान ले सकता हूं?


यशीष दहिया: कोई भी इंश्योरेंस प्लान अपने निजी पते पर ही लेना चाहिए। दूसरे के पते प्लान लेना पर या फिर ऐसा प्लान खरीदना जो आपके शहर में उपलब्ध नहीं है एसे में क्लेम सेटलमेंट में परेशानियां आ सकती हैं। आपके शहर में जो भी ऑनलाइन टर्म प्लान उपलब्ध हो उसे लेना सही रहेगा।


वीडियो देखें