Moneycontrol » समाचार » म्यूचुअल फंड विश्लेषण

करोड़पति बनने की आसान राह

संपत्ति जोड़ने का पहला और आसान कदम बचत है। अपने खर्चों को आय से कम रखकर ही बचत की जा सकती है।
अपडेटेड Nov 28, 2011 पर 11:26  |  स्रोत : Moneycontrol.com

moneycontrol.com


संपत्ति जमा करने के लिए सिर्फ ज्यादा पैसे कमाना काफी नहीं है। पैसे जोड़ने के लिए खर्चों पर लगाम लगाना जरूरी है।

संपत्ति को नेट वर्थ के मापदंड पर नापा जाता है। एसेट और कर्जों के अंतर को नेट वर्थ कहा जाता है। जितनी ज्यादा नेट वर्थ होती है, उतनी ज्यादा आपके पास संपत्ति होती है।

संपत्ति को जोड़ने के लिए एसेट की जरूरत होती है। इसके लिए जरूरी है कि आपको सही एसेट की पहचान हो। जिस किसी भी साधान आपको आय प्राप्त हो या भविष्य में वैल्यू में बढ़ोतरी होने की संभावना हो, उसे संपत्ति जोड़ने वाला एसेट कहा जाएगा।

जैसे कार को एसेट नहीं कहा जा सकता है, क्योंकि कार पर आपको खर्चा करना पड़ता है। इससे आपकी संपत्ति बढ़ती नहीं है, बल्कि खर्चा बढ़ता है।

संपत्ति जोड़ने के लिए या एसेट खरीदने के लिए बचत की जरूरत पड़ती है। अपने खर्चों को आय से कम रखकर ही बचत की जा सकती है। यानी संपत्ति जोड़ने का पहला और आसान कदम बचत है।


इस लेख के लेखक अमित त्रिवेदी कर्मयोग नॉलेज अकैडमी चलाते हैं। उनसे amit@karmayog-knowledge.com पर संपर्क किया जा सकता है।