Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

स्मार्ट तरीके से होम लोन को मैनेज करें

प्रकाशित Tue, 27, 2011 पर 12:29  |  स्रोत : Moneycontrol.com

moneycontrol.com



अपने खुद के घर में जाकर रहना ऐसी खुशी है जिसे शब्दों मे बंया करना मुश्किल है। घर में होने वाली पूजा, नए कार्यक्रम, घर के लिए सही फर्निचर ढूंढ़ना, अपने घर के छोटे छोटे कंस्ट्रक्शन के काम करना वगैरह आपको गर्व और खुशी का अहसास कराते हैं और आपके जीवन में सफलता का अहसास दिलाते है।



घर के कार्यक्रम खत्म होने के बाद जब अगला नया महीना आता है तो इसके साथ एक जिम्मेदारी भी आती है। ये समय आपके बेंक खाते में पैसे रखने का है क्योंकि आपके घर की ईएमआई भरने का समय एक हफ्ते के बाद आ रहा है। अन्य लोगों के लिए ये साधारण रुप से खाते से पैसे निकालने का समय है।



ये समय किसी म्यूचुअल फंड के फंड मैनेजर जैसा बर्ताव करने का है। आपको सोचसमझकर सही जानकारी के साथ अपने घर को मैनेज करना है जो एक ऐसेट है और एक देनदारी चुकानी है जो आपका होमलोन है। पहले से तैयार रहें तो आप ब्याज के रुप में जाने वाली रकम से कहीं ज्यादा ऊंचा रिटर्न कमा सकते हैं।
 



होम लोन लेने के बाद फंड को मैनेज करना



घर के फंड मैने जर के रूप में आपको काफी सारी जिम्मेदारियां निभानी है। सबस पहले आप लोन और बचत के साथ साथ अपने निवेश की भी एक सूची बना लें। क्या आपको कुछ ऐसे ऐसेट मिलते हैं जहां बचत और निवेश से आने वाला रिटर्न, आपके लोन के ब्याज की तुलना में कम है। आमतौर पर ये एनडाओमेंट इंश्योरेंस, ईपीएफ, पीपीएफ, डाकघर बचत योजनाएं और कभी कभी यूलिप के तौर पर सामने आते हैं। तो ऐसे में सवाल उठता है कि आपने इतनी सारी चीजों में निवेश क्यो कर रखा है जब आप पहले से ही लोन को चुकाने के लिए भारी भरकम ब्याज चुका रहे हैं। इसलिए ये सुझाव दिया जा रहा है कि कम रिटर्न देने वाली बचत और निवेश को बंद करें और सबसे पहले होमलोन को चुकाने पर ध्यान केंद्रित करें।



हालांकि आपको अपनी सुरक्षा का भी ध्यान रखते हुए एन्डाओमेंट प्लान की जगह अच्छे कवर का टर्म प्लान लेना चाहिए। आपका नियोक्ता और ईपीएफ अफसर आपको ईपीएफ खाते से पैसा निकालने की अनुमति देंगे जिससे आप घर का लोन समय से पहले चुका सकें। हालांकि पीपीएफ खाते से ये सुविधा नहीं मिल पाएगी। यूलिप और डाकघर जमा 3 साल के लॉकइन पीरियड के बाद ही पैसा निकालने की अनुमति दे सकते हैं।



अपना कर्ज जल्दी चुकाने के विकल्प



अपने लोन टेन्योर को कम करने और ईएमआई को बंद करने के कुछ सुझाव



1.आंशिक प्री-पेमेंट



2.कम ब्याज दर पर लोन स्विच करें



3.ईएमआई को बढाना




आइये अब इन विकल्पो को विस्तार से जानें, इनकी सबसे खास बात ये है कि ये आपके मौजूदा बजट से बाहर नहीं जाएंगे।


 


आंशिक प्री पेमेंट

ये लोन को जल्दी बेंद करने का सबसे आसान उपाय है। इसके लिए आप बोनस के रूप में मिलने वाली रकम, आय के साथ मिले एरियर, दोस्तों, रिश्तेदारों स मिले नगद ऊपहार, शेयरों से हुई कमाई, संपत्ति बेचने, डिपॉजिट बंद, टैक्स बचाने वाले साधनों के मैच्योरिटी से मिली रकम और बचत खाते बंद करने से मिली रकम का इस्तेमाल करके आप होमलोन को समय से पहले आँशिक रुप से बंद करा सकते हैं।



एक बार में भुगतान किए जाने वाली रकम से आप लोन की मूल राशि घटा सकते हैं। और जो बची हुई ईएमआई जारी रहती है, प्रिसीपल अमाउंट कम होने से ईएमआई भी सस्ती हो जाती है। इस तरह आपका ईएमआई चुकाने का समय कम हो जाता है। साफ है कि जितना जल्दी आप आंशिक प्री-पेमेंट करेंगे, उतना ही जल्दी आप अपने होमलोन को खत्म कर सकते हैं।
सामान्य तौर पर बैंक 10,000 रुपये से प्री-पेमेंट को मंजूरी देते हैं। हाउसिंग लोन के आंशिक प्री-पेमेंट के लिए बैंक किसी तरह का चार्ज नहीं वसूलते हैं।


सस्ती ब्याज दरों वाले लोन पर स्विच करें



फिलहाल ब्याज दरों के बढ़ने का चलन चल रहा है। एक समय ऐसा भी आएगा जब ब्याज दरें नीचे जाने लगेंगी। अगर उस समय आपका बैंक भी ब्याज दरें कम करता है तो ठीक है वर्ना आप किसी अन्य बैंक में अपना होमलोन स्विच कर सकते हैं।



हाउसिंग लोन स्विच करने समय ये ध्यान रखें कि बैंकों के बदलती ब्याज दरों के आधार पर बार बार लोन को स्विच ना करें। ऐसा इसलिए क्योंकि लोन स्विच करने पर कुछ शुल्क चुकाने पड़ते हैं जैसे प्री-पेमेंट पेनल्टी। हालांकि आरबीआई इसे खत्म करने पर जोर दे रहा है और कुछ बैंकों ने प्री-पेमेंट पेनल्टी खत्म भी कर दी है। लेकिन कुछ बैंक अभी भी प्री-पेमेंट पेनल्टी लेते हैं अगर आपने खुद ये लोन ना चुकाया हो तो।



ये भी ध्यान रखें कि लोन ट्रांसफर करते समय प्रॉपर्टी वैरीफिकेशन और कानूनी दस्तावेजी काम सब कुछ दोबारा से होता है। साथ ही लोन ट्रांसफर की सुविधा उठाने के लिए जरूरी है कि आपने पहले वाले बैंक की सभी ईएमआई हर बार समय पर चुकाई हों।


ईएमआई को बढ़वाना



लोन को समय से पहले खत्म करने का ये भी एक साधन है। अगर आप अपनी बचत से ईएमआई की राशि बढ़ाकर चुका सकते हैं तो आपका लोन समय से पहले खत्म हो सकता है। उदाहरण के लिए 20 साल के लिए लिया गया 30 लाख रुपये का होमलोन है और इस पर 28,950 रुपये की ईएमआई बनती है। अगर आप 2,300 रुपये हर महीने ज्यादा दे सकते हैं तो आपका होमलोन 15 साल के भीतर खत्म हो सकता है।



आप एन्डाओंमेंट इंश्योरेंस और डाकघर जमा खातों के लिए जो रकम निकालते हैं, इस निवेश को बंद करके आप बढ़ी ईएमआई चुका सकते हैं और लोन के बोझ को कम कर सकते हैं। अपने लोन टेन्योर के दौरान आप किसी भी समय आप ईएमआई बढ़वा सकते हैं। सामान्यतया बैंक ईएमआई बढ़ाने के ऊपर किसी तरह का अतिरिक्त शुल्क नहीं वसूलते हैं।



सारांश

अपने होम लोन को चुकाने के बाद ही आप अपने घर के वास्तविक मालिक की खुशी महसूस कर सकते हैं। हाउसिंग लोन को समय से पहले खत्म करके ना सिर्फ आप कर्ज के बोझ से मुक्त हो सकते हैं बल्कि अपने फैमिली बजट के लिए भी ज्यादा रकम इस्तेमाल कर सकते हैं।



ये लेख बैंक बाजार डॉटकॉम से साभार लिया गया है।