Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

इस साल 20% एफसीसीबी होंगे डिफॉल्ट: फिच

रेटिंग एजेंसी फिचे के मुताबिक इस करीब कई कंपनियां एफसीसीबी का भुगतान करने में नाकाम हो सकती हैं।
अपडेटेड Feb 23, 2012 पर 15:45  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

साल 2012 में 59 भारतीय कंपनियों के करीब 7 अरब डॉलर का एफसीसीबी रिडेम्पशन होने वाला है। लेकिन रेटिंग एजेंसी फिच का कहना है कि इस साल करीब 20 फीसदी कंपनियां एफसीसीबी के भुगतान में डिफॉल्ट हो सकती है।


रेटिंग एजेंसी फिच के डायरेक्टर दीप मुखर्जी के मुताबिक इस साल 59 भारतीय कंपनियों के एफसीसीबी मैच्योर हो रही है। जिसके तहत इन कंपिनयों को 700 करोड़ डॉलर का भुगतान करना है। जिसमें 63 फीसदी कंपनियां बड़ी आसानी से एफसीसीबी का भुगतान कर लेंगी। लेकिन इस कसौटी पर करीब 20 फीसदी कंपनियां खरी उतरती नहीं दिखाई दे रही हैं।


दीप मुखर्जी का कहना है एफसीसीबी का भुगतान करने में असमर्थ दिखाई देने वाली कंपनियों में स्टरलाइट बायोटेक, आईसीएसए इंडिया, केएलजी सिस्टल, थ्री-आई इंफोटेक और जेमिनी कम्युनिकेशंस जैसी कंपनियों के नाम रह सकते हैं।


फिच के मुताबिक एफसीसीबी रिडेम्पशन में डिफॉल्ट करने  की आशंका वाली 20 फीसदी कंपनियां पिछले 2-3 साल से खराब दौर से गुजर रही हैं। कंपनियों के कारोबार पर काफी बट्टा लग चुका है, वहीं भारतीय बैंकों के कर्ज चुकाने में भी यह कंपनियां नाकाम साबित हुई हैं। ऐसे में इस साल एफसीसीबी का भुगतान करने का माद्दा इन कंपनियों में नहीं दिखाई दे रहा है। वहीं करीब 17 फीसदी कंपनियां एफसीसीबी रीस्ट्रक्चरिंग कराएंगी, जबकि कुछ कंपनियां समय सीमा में बढ़ोतरी जैसे विकल्पों को भी अपना सकती हैं।


वीडियो देखें