Moneycontrol » समाचार » टैक्स

जानिए टैक्स से जुड़े सवालों के जवाब

प्रकाशित Sat, 04, 2012 पर 15:10  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आईटी विभाग ने रिटर्न भरने की तारिख बढ़ाकर 31 अगस्त कर दी है। इसके अलावा चैरिटी ट्रस्ट के लिए रिटर्न भरने की भी तारीख बढ़ाई है। रिटर्न भरने की तारिख बढ़ाने का सबसे ज्यादा फायदा उन लोगों को होगा जिन्होंने अभी तक इनकम टैक्स जमा नहीं किया।


जिन्होंने अब तक टैक्स नहीं भरा है, वो लोग अब पेनल इंटरेस्ट दिए बैगेर इनकम टैक्स रिटर्न फाइल कर सकते हैं। अब करदाता पेपर, ई रिटर्न दोनों 31 अगस्त तक भर सकते हैं। आइए जानते है टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया जी से टैक्स रिटर्न से जुड़े कुछ सवालों के जबाव जो अभी आपके मन में उठ रहे हैं।


सवाल : रिटायर्मेंट पर 6.40 लाख रुपये के करीब लीव एनकाशमेंट मिला। क्या इस पर टैक्स लगेगा?


सुभाष लखोटिया : रिटायरमेंट के समय मिले लीव एनकाशमेंट पर आपको 3 लाख रुपये तक की टैक्स छूट मिल सकती है।  


सवाल : बैंक ब्याज, पेंशन, अन्य स्त्रोत और पत्नी की इनकम मिलाकर कुल इनकम 2.12 लाख रुपये है। क्या रिटर्न भरना है?     


सुभाष लखोटिया : आप आईटीआर फॉर्म नं1 में रिटर्न भर सकते हैं। लेकिन अगर आप वरिष्ट नागरिक है रिटर्न भरने की जरूरत नहीं है।    


सवाल : इनकम छूट के दायरे में है। रिटर्न में अनुमानित इनकम लिखी है। क्या ई-रिटर्न भरने पर हमेशा ऑनलाइन रिटॅर्न ही भरना होगा? 


सुभाष लखोटिया : आपकी इनकम टैक्स छूट के दायरे में है, तो अनुमानित इनकम से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। हमेशा ई-रिटर्न भरना जरूरी नहीं है। आप पेपर रिटर्न भी भर सकते हैं।   


सवाल : बैंक ने एफडी और पेंशन का टीडीएस सर्टिफिकेट नहीं दिया। रिटर्न  अब कैसे भरें?


सुभाष लखोटिया : आप टीडीएस की जानकारी फॉर्म 26एएस से लें सकते हैं और फॉर्म 26एएस देखकर रिटर्न भर सकते हैं।       


सवाल : वेल्थ टैक्स कानून आखिर है क्या और किसतरह से लागू होता है? 


सुभाष लखोटिया : पूरी संपत्ति पर वेल्थ टैक्स नहीं लगता है। वित्त वर्ष में अगर संपत्ति 30 लाख रुपये से ऊपर हो तो वेल्थ टैक्स लग सकता है। वेल्थ टैक्स मकान, गाड़ी, ज्वेलरी, नाव, बोट, एयरक्राफ्ट और शहर में जमीन होने पर लगता है।

इसके अलावा व्यक्ति/एचयूएफ के पास 50,000 रुपये से ज्यादा कैश हो तब भी वेल्थ टैक्स लगता है। व्यक्ति, हिंदू अनडिवाइडेड फैमिली यानि एचयूएफ और कंपनी को 1 साल में 1 फीसदी वेल्थ टैक्स भरना पड़ता है।  


सवाल : अनिवासी भारतीय के लिए वेल्थ टैक्स के नियम किस तरह से हैं?
 
सुभाष लखोटिया : अनिवासी भारतीयों के लिए टैक्स छूट की सीमा 30 लाख रुपये है। अगर भारत में अनिवासी भारतीयों की संपत्ति टैक्स छूट से ज्यादा है तो वेल्थ टैक्स देना होगा। एनआरआई की विदेश की संपत्ति वेल्थ टैक्स में शामिल नहीं होती है। 
 
सवाल : मुंबई में 30 लाख रुपये का फ्लैट है। मैंगलोर में 40 लाख रुपये की जमीन खरीदी है। क्या वेल्थ टैक्स देना होगा?   


सुभाष लखोटिया : आपको फ्लैट और जमीन दोनों पर वेल्थ टैक्स छूट मिल सकती है। इसके अलावा 500 गज तक की जमीन पर और 300 दिन से ज्यादा समय तक घर किराए पर देने पर भी वेल्थ टैक्स छूट मिल सकता है।


सवाल : कौन से निवेश और संपत्ति वेल्थ टैक्स के दायरे में आते हैं और किन पर छूट मिलती है?  


सुभाष लखोटिया : घर, कर्मशियल प्रॉपर्टी, शेयर में निवेश, डिबेंचर में निवेश, म्यूचुअल फंड में निवेश, इंफ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड में निवेश, बैंक/कंपनी एफडी और सेविंग अकाउंट के बैलेंस पर वैल्थ टैक्स नहीं लगता है।

इसके अलावा गांव में खेती की जमीन, 50,000 रुपये से कम कैश, यूलिप में निवेश और इंश्योरेंस में निवेश पर भी वेल्थ टैक्स नहीं लगेगा। लेकिन अगर शहर में खेती की जमीन हो या 50,000 रुपये से ज्यादा कैश हो और बाजार में ज्वेलरी की मौजूदा कीमत पर वेल्थ टैक्स लगेगा।
   
सवाल : करदाता को वेल्थ टैक्स रिटर्न कब भरना होता है और इसके लिए क्या कोई खास फॉर्म भी मौजूद है?


सुभाष लखोटिया : वेल्थ टैक्स रिटर्न भरने का केवल एक ही फॉर्म है वो है फॉर्म नं बीए। करदाता वेल्थ टैक्स रिटर्न 31 अगस्त और 30 सितंबर तक भर सकते हैं। वेल्थ टैक्स पर टीडीएस नहीं कटता है। करदाता सिर्फ वेल्थ टैक्स चुकाएं और रिटर्न भरें।    


सवाल : 2003 में फ्लैट बुक किया। 19 लाख रुपये में पेमेंट किया। फ्लैट नहीं मिला, बुकिंग रद्द कर बिल्डर ने 60 लाख रुपये वापस किए। वेल्थ टैक्स लगेगा? 


सुभाष लखोटिया : एक घर पर वेल्थ टैक्स नहीं लगता है। साल में 300 दिन से ज्यादा घर किराए पर देने पर वेल्थ टैक्स छूट मिल सकता है। लेकिन घर तैयार ही नहीं, तो कोई वेल्थ टैक्स नहीं लगेगा।


सवाल : दादी 400 ग्राम सोना बेचना चाहती है, क्या इस पर वेल्थ टैक्स लगेगा?


सुभाष लखोटिया : महिला 500 ग्राम सोना रख सकती है, क्योंकि वैल्यू 30 लाख रुपये से कम है। वेल्थ टैक्स पर 30 लाख तक की छूट मिल सकती है। लेकिन अगर सोना 30 लाख रुपये से हो तो वेल्थ टैक्स लगता है। सोना वेचने पर बेचने पर लॉंन्ग टर्म कैपिटल गेन लगता है।


वीडियो देखें