Moneycontrol » समाचार » म्यूचुअल फंड खबरें

एमएफ कंपनियों के खिलाफ शिकायतों में हुआ इज़ाफा़

एएमफआई को साल भर में म्यूचुअल फंडों के खिलाफ करीब चार लाख शिकायतें मिली हैं।
अपडेटेड Aug 02, 2010 पर 16:55  |  स्रोत : Hindi.in.com

02 अगस्त 2010



सीएनबीसी आवाज़



तेजी से बढ़ रहे म्यूचुअल फंडों के खिलाफ निवेशकों को शिकायतें भी कम नहीं है। अकेले इसी साल म्यूचुअल फंड एसोसिएशन यानी एएमफआई को साल भर में करीब चार लाख शिकायतें मिली हैं। इनमें रिडेम्शन और लाभांश में गड़बड़ी से निवेशक सबसे ज्यादा दुखी है।



निवेशकों को सबसे ज्यादा दिक्कत लाभांश ना मिलने और रिडेम्शन में देरी से हो रही है। यही नहीं बहुत से लोगों को इस बात से नाराजगी है कि बार बार कहने पर भी उनके पते, पैन नंबर और बैंक से जुड़ी जानकारी वक्त पर अपडेट नहीं हो रही है।


एम्फी के मुताबिक सबसे ज्यादा करीब एक लाख शिकायतें यूटीआई म्यूचुअल फंड के खिलाफ हैं। इनमें ज्यादातर को रिडेम्शन मिलने में दिक्कत हो रही है। आईसीआईसीआई प्रु के साथ भी निवेशकों को यही परेशानी हो रही है। बिड़ला सनलाइफ के खिलाफ आई अधिकतकर शिकायतें वक्त पर एकाउंट स्टेटमेंट न मिलने को लेकर है। इसके मुकाबले डीएसपी ब्लैक रॉक, एसबीआई एमएफ और रिलायंस म्यूचुअल फंड के खिलाफ कम शिकायतें आई हैं।



दरअसल सेबी ने मई में आदेश दिया था कि सारे म्युचुअल फंड अपनी वेबसाइट में ग्राहकों की शिकायतों की जानकारी दें। इसके बाद म्यूचुअल फंड के खिलाफ निवेशकों की इन दिक्कतों का खुलासा हुआ। निवेशकों के लिए राहत की बात ये है कि  शिकायतें मिलने के महीने भर के अंदर उनकी परेशानी म्युचुअल फंड कंपनी ने दूर भी कर दी।




म्यूचुअल फंड                     शिकायतें



यूटीआई एमएफ                  99,347

बिड़ला सन लाइफ                 95438

आईसीआईसीआई प्रु               57,644