Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

आज के चर्चित स्टॉक्स

कौन से हैं वो शेयर जिन पर होगी आज बाजार की नजर।
अपडेटेड Jan 30, 2013 पर 09:00  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कौन से हैं वो शेयर जिन पर होगी आज बाजार की नजर।


रिलायंस इंडस्ट्रीज
कंपनी ने परपेचुअल बॉन्ड से 80 करोड़ डॉलर जुटाए। कंपनी की करीब 1 लाख करोड़ रुपये खर्च करने की योजना है।


आईडीबीआई बैंक
बैंक ने बेस रेट 0.25 फीसदी घटाए और ये नई दरें 1 फरवरी से लागू होगी। इसके अलावा होम लोन और ऑटो लोन भी सस्ता होगा।


प्रेस्टिज एस्टेट
कंपनी के बोर्ड ने आईपीपी के जरिए शेयर जारी करने को मंजूरी दी। कंपनी करीब 2.2 करोड़ शेयर 166 रुपये प्रति शेयर पर क्यूआईबी को जारी करेगी।   


ब्रिगेड़ एंटरप्राइजेस
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कंपनी की आय 27 फीसदी बढ़कर 157 करोड़ रुपये रही। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी की आय 124 करोड़ रुपये रही थी।


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 36 फीसदी घटकर 6.63 करोड़ रुपये रहा। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 10.4 करोड़ रुपये रहा था।


एल्स्टॉम टीएंडडी
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 4.4 फीसदी बढ़कर 711 करोड़ रुपये रही। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 681 करोड़ रुपये रही थी।


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 67 फीसदी घटकर 9.8 करोड़ रुपये रहा। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 30.2 करोड़ रुपये रहा था।


पिडीलाइट इंडस्ट्रीज
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 21 फीसदी बढ़कर 927 करोड़ रुपये रही। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 768 करोड़ रुपये रही थी।


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 51 फीसदी बढ़कर 119 करोड़ रुपये रहा। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 78.6 करोड़ रुपये रहा था।  


इंजीनियर्स इंडिया
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 24 फीसदी घटकर 604.8 करोड़ रुपये रही। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 792 करोड़ रुपये रही थी।


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 12 फीसदी घटकर 132.3 करोड़ रुपये रहा। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 151 करोड़ रुपये रहा था।


इसके अलावा कंपनी का एबिटा साल दर साल आधार पर 182 करोड़ रुपये से घटकर 131.1 करोड़ रुपये रहा। वहीं कंपनी का ऑपरेटिंग मार्जिन 23 फीसदी से घटकर 21.6 फीसदी रहा। 


बिनानी इंडस्ट्रीज
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कंपनी की आय 6 फीसदी बढ़कर 33 करोड़ रुपये रही। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी की आय 31.1 करोड़ रुपये रही थी।


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 4.8 करोड़ रुपये रहा। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी ने 11.4 करोड़ रुपये का घाटा दिखाया था।


ब्ल्यू डार्ट
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 16.5 फीसदी बढ़कर 458.4 करोड़ रुपये रही। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 393.5 करोड़ रुपये रही थी।


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 100.5 फीसदी बढ़कर 45 करोड़ रुपये रहा। जबकि वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 22.4 करोड़ रुपये रहा था। 
 
जीएसके कंज्यूमर
पेरेंट कंपनी का 3900 रुपये प्रति शेयर पर ओपन ऑफर आज बंद होगा।

टॉरेंट फार्मा
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में टॉरेंट फार्मा का मुनाफा 34.97 फीसदी बढ़कर 112.3 करोड़ रुपये रहा। वहीं वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 83.2 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में टॉरेंट फार्मा की बिक्री 14.12 फीसदी बढ़कर 768.6 करोड़ रुपये रही। वहीं वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 673.5 करोड़ रुपये रही थी।

ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन का मुनाफा 16.29 फीसदी घटकर 11.3 करोड़ रुपये रहा। पिछले साल अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में कंपनी का मुनाफा 13.5 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2013 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन की बिक्री 6.03 फीसदी बढ़कर 492 करोड़ रुपये रही। पिछले साल की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 464 करोड़ रुपये रही थी।

कंटेनर कॉर्पोरेशन
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कंटेनर कॉर्पोरेशन का मुनाफा 1.86 फीसदी घटकर 236.7 करोड़ रुपये रहा। वहीं वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 241.2 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कंटेनर कॉर्पोरेशन की आय 3.49 फीसदी बढ़कर 1082.8 करोड़ रुपये रही। वहीं वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी की आय 1,046.2 करोड़ रुपये रही थी।


कोरोमंडेल इंजीनियरिंग
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कोरोमंडेल इंजीनियरिंग का घाटा 709 फीसदी बढ़कर 89 करोड़ रुपये रहा। वहीं वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी का घाटा 11 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में कोरोमंडेल इंजीनियरिंग की बिक्री 31.94 फीसदी बढ़कर 47.5 करोड़ रुपये रही। वहीं वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 36 करोड़ रुपये रही थी।


श्रीराम सिटी
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में श्रीराम सिटी का मुनाफा 34.73 फीसदी बढ़कर 112.5 करोड़ रुपये रहा। पिछले साल अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में कंपनी का मुनाफा 83.5 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2013 की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में श्रीराम सिटी की ब्याज आय 5.14 फीसदी बढ़कर 425 करोड़ रुपये रही। पिछले साल की तीसरी तिमाही में कंपनी की ब्याज आय 404.2 करोड़ रुपये रही थी। 
 
जीएसएफसी
वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में जीएसएफसी का मुनाफा 20.7 फीसदी घटकर 136.5 करोड़ रुपये रहा। वहीं वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 172.3 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2013 की तीसरी तिमाही में जीएसएफसी की बिक्री 33.03 फीसदी बढ़कर 1,729.4 करोड़ रुपये रही। वहीं वित्त वर्ष 2012 की तीसरी तिमाही में कंपनी की बिक्री 1,300 करोड़ रुपये रही थी।


वीडियो देखें